Connect with us

City

3 भाइयों की मौत से दुखी महिला ने लगाई फांसी

Published

on

Advertisement

चचेरे भाई की तेरहवीं के बाद खुद झूली फंदे पर; पति बोला- जब फंदे से उतारा तो चल रही थी सांसें, अस्पताल में इलाज के दौरान तोड़ा दम

हरियाणा के पानीपत जिले में पहले दो सगे भाइयों और फिर चचेरे भाई की मौत से दुखी एक महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। महिला के पति ने उसे फंदे से किसी तरह नीचे उतारा। उस समय तक महिला की सांसें चल रही थीं। परिवार ने महिला को निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां बुधवार दोपहर में उसने दम तोड़ दिया। महिला के मायकेवालों ने किसी तरह की कानूनी कार्यवाही करवाने से इनकार कर दिया।

मृतका मंजू का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar

Advertisement

पानीपत के सनौली थाना क्षेत्र के गांव छाजपुर कलां में रहने वाले प्रदीप ने बताया कि वह ऑटो चलाता है। तकरीबन 14 साल पहले उसकी शादी समालखा एरिया के चुलकाना गांव की मंजू से हुई थी। शादी के बाद उनके दो बेटे हैं। छाजपुर कलां गांव में उनके दो मकान हैं। मंगलवार को उसकी पत्नी मंजू एक मकान में अकेली थी। तकरीबन 10 बजे जब वह घर पहुंचा तो मंजू एक कमरे में छत के गार्डर से फंदे पर झूलती मिली। उसने शोर मचाकर आसपास के लोगों को बुलाया और उनकी मदद से मंजू को नीचे उतारा। उस समय तक मंजू की सांसें चल रही थीं इसलिए वह उसे तुरंत सनौली रोड स्थित एक निजी अस्पताल में ले गए। वहां इलाज के दौरान बुधवार को मंजू ने दम तोड़ दिया।

पानीपत सिविल अस्पताल में पहुंचा सुसाइड करने वाली महिला का पति प्रदीप (दाएं)। मायके पक्ष में हो रही मौतों से थी परेशानघटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची सनौली थाने की पुलिस ने बताया कि चूंकि इस मामले में किसी ने शिकायत नहीं दी है इसलिए उन्होंने आईपीसी की धारा 174 के तहत कार्रवाई कर दी है। उधर मंजू के पति प्रदीप के अनुसार, उसकी पत्नी के दो सगे भाई गोलू और संदीप थे। गोलू की साढ़े तीन साल पहले और संदीप की डेढ़ साल पहले मौत हो गई। मंजू के पिता का भी निधन हो चुका है और उसकी मां दिव्यांग हैं। तकरीबन दो सप्ताह पहले मंजू के चचेरे भाई की भी मौत हो गई। मंगलवार को उसकी तेरहवीं थी। बीते कुछ बरसों में मायके पक्ष में हो रही लगातार मौतों से मंजू परेशान रहती थी और इसी वजह से उसने खुद फंदा लगा लिया।

Advertisement
Advertisement