Connect with us

City

पुराने वाहनों पर शिकंजा कसा, दो दिन में 20 से अधिक वाहन इंपाउंड

Published

on

Advertisement

पुराने वाहनों पर शिकंजा कसा, दो दिन में 20 से अधिक वाहन इंपाउंड

15 साल पुराने पेट्रोल और 10 साल पुराने डीजल वाहनों पर शिकंजा कसने के लिए यातायात पुलिस ने 15 से 21 नवंबर तक विशेष अभियान शुरू किया है। पुलिस महानिदेशक के आदेशानुसार चल रहे अभियान के तहत पुलिस ने 20 से अधिक वाहनों को इंपाउंड भी कर दिया है।

पुराने वाहनों पर शिकंजा कसा, दो दिन में 20 से अधिक वाहन इंपाउंड

Advertisement

पेट्रोल-डीजल के कितने वाहन इंपाउंड किए, इसकी रिपोर्ट रोजाना पुलिस महानिरीक्षक यातायात और हाइवे मुख्यालय करनाल को भेजी जानी है। डीएसपी यातायात संदीप सिंह ने यह जानकारी दी है। दरअसल, नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी), प्रदूषण फैलाने वाले 10 साल पुराने डीजल, 15 साल पुराने पेट्रोल वाहनों को बंद करने के आदेश बहुत पहले दे चुका है। सुप्रीम कोर्ट भी दिल्ली-एनसीआर के लिए इस बाबत आदेश जारी कर चुका। इसी कड़ी में पुलिस महानिदेशक कार्यालय से पानीपत सहित करनाल, सोनीपत, रोहतक, झज्जर, भिवानी, जींद, पलवल, रेवाड़ी, नूंह और चरखी दादरी के एसपी को अभियान संबंधी निर्देश जारी किए गए।

प्रदूषण को रोकने, एयर क्वालिटी इंडेक्स सुधारने के लिए यह कदम उठाया गया है। डीएसपी के मुताबिक पुराना वाहन सड़क पर दौड़ता मिला तो उसे इम्पाउंड किया जाएगा, मालिक पर जुर्माना भी होगा। एसडीएम पानीपत कार्यालय और क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय से मिले आंकड़ों के मुताबिक पुराने वाहनों की संख्या लगभग 3.85 लाख है। जिला में 15 साल पुराने घरेलू पेट्रोल वाहन

Advertisement

चार पहिया-24 हजार 524

दो पहिया-2.54 लाख 377 जिला में 10 साल पुराने घरेलू डीजल वाहन

Advertisement

चार पहिया-25 हजार 450

ट्रैक्टर-10 हजार 748 सितंबर में जारी किए थे निर्देश

एसपी शशांक कुमार सावन ने भी 21 सितंबर 2021 को ही पुराने वाहनों के मालिकों को निर्देश जारी कर दिए थे। पुराने वाहनों को सड़कों पर न दौड़ाने की नसीहत दी थी। दिल्ली-एनसीआर से बाहर जिलों में पुराने वाहन, रजिस्ट्रेशन नवीनीकरण के साथ चल सकेंगे।

Advertisement