Connect with us

विशेष

देश में बिगड़े हालात देख, ये रईस भागे लंदन – जाने को लूटा दीं दौलत

Published

on

Advertisement

देश में बिगड़े हालात देख, ये रईस भागे लंदन – जाने को लूटा दीं दौलत

 

 

Advertisement

कोरोना का प्रकोप बढ़ता देखते हुए ब्रिटेन ने नई ट्रैवल गाइडलाइंस जारी की हैं। इनके तहत शुक्रवार सुबह 8.30 बजे से ही भारत को उसने अपने रेड लिस्ट में डाल दिया है, यानी शुक्रवार सुबह 8.30 बजे के बाद भारत का कोई भी विमान ब्रिटेन में लैंड नहीं कर सकता। हालांकि, इस गाइडलाइन के प्रभावी होने से करीब 24 घंटे पहले ही भारत के कुछ अरबपतियों ने अपना नया ठिकाना लंदन बना लिया। इन प्राइवेट जेट से भारत के वो अरबपति ब्रिटेन जा पहुंचे, जिन्हें मौजूदा हालात में भारत में स्वास्थ्य सेवाओं की खस्ता हालत देखकर डर लग रहा था। कम से कम वहां ऑक्सीजन की कमी तो नहीं होगी।

नई गाइडलाइंस लागू होती, उससे पहले ही घुस गए ब्रिटेन में
एक वेबसाइट FlightAware के अनुसार ब्रिटेन में नई ट्रैवल गाइडलाइंस लागू होने से पहले 24 घंटों के अंदर कुल 8 प्राइवेट जेट लंदनन के ल्यूटन (Luton) एयरपोर्ट पहुंचे। भारत से एक के बाद एक 8 प्राइवेज जेट उड़े और समय से पहले ही ब्रिटेन में लैंड कर गए। यहां तक कि एक प्राइवेट जेट तो महज 45 मिनट पहले ही लैंड हुआ। यह जेट मुंबई से गुरुवार को रात 9.42 पर उड़ा था और शुक्रवार को सुबह 6.53 बजे ल्यूटन एयरपोर्ट पर लैंड हुआ। इनमें से 4 जेट मुंबई से उड़े थे, 3 दिल्ली से और एक अहमदाबाद से। एक अन्य जेट गुरुवार रात को उड़ा था और शुक्रवार सुबह महज 40 मिनट पहले लैंड हुआ।
aviation

Advertisement

इन रईसों ने लंदन जाने के लिए लुटा दी दौलत
बताया जा रहा है कि हर प्राइवेट जेट के लिए करीब 72000 पाउंड खर्च किए गए हैं यानी 72 लाख रुपये। जिन भारतीयों के पास अथाह दौलत नहीं है, वह तो पिछले हफ्ते फ्लाइट में सीट के लिए परेशान होते रहे। स्टूडेंट समेत कुछ ट्रैवलर्स ब्रिटेन जाना चाह रहे थे, जिनके लिए कुछ अतिरिक्त फ्लाइट की व्यवस्था के लिए भी कहा गया था। लंदन की एक ट्रैवल एजेंसी ने कतर एयरवेज की एक फ्लाइट का इंतजाम किया, जिसमें 300 सीटें थीं। ये फ्लाइट 22 अप्रैल को दिल्ली से उड़ान भरने वाली थी। इसमें इकनॉमी क्लास के लिए 1,100 पाउंड यानी 1.1 लाख रुपये और बिजनस क्लास के लिए 1.6 लाख रुपये की टिकट रखी गई। बाद में फ्लाइट भी कैंसल हो गई और कहा गया लैंडिंग परमिट नहीं है, जिसके बाद सबके पैसे रिफंड कर दिए गए।

अभी भारत को ब्रिटेन ने अपनी रेड लिस्ट में डाल दिया है। यानी कि अब जिसके पास भी यूके की नागरिकता नहीं है, वह यूके में लैंड नहीं कर सकता है। जिनके पास यूके की नागरिकता है, वह भी अगर ब्रिटेन में पहुंचेंगे तो उन्हें 10 दिन तक सरकार की तरफ से तय किए गए होटल में क्वारंटीन रहना होगा।

Advertisement

 

 

 

Source : NavBharat

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *