Connect with us

City

आर्यन के जेल से छूटने के बाद शाहरुख खान और गौरी खान ने बनाए तीन सख्त नियम

Published

on

Advertisement

आर्यन के जेल से छूटने के बाद शाहरुख खान और गौरी खान ने बनाए तीन सख्त नियम, क्यों बच्चों की गलती का असर पड़ता है पति-पत्नी के रिश्ते पर

 

मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले में लगभग 26 दिनों तक जेल की सजा काट चुके शाहरुख खान (Shahrukh Khan) और गौरी खान (Gauri Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) को 28 अक्टूबर 2021 को आखिरकार जमानत मिल ही गई। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने आर्यन को 2 अक्टूबर की रात को गिरफ्तार किया था, जिसके बाद उन्हें आर्थर रोड जेल में शिफ्ट किया था। हालांकि, आर्यन खान की घर वापसी को लेकर शाहरुख खान और गौरी खान ने हर संभव कोशिश की थी, लेकिन इसके बाद भी वह अपने बेटे की मुश्किलें कम नहीं कर पाएं।

Advertisement

आर्यन की रिहाई के लिए न केवल स्टार कपल को कोर्ट से 3 बार तारीख मिली बल्कि इसमें से दो बार आर्यन की जमानत याचिका खारिज भी कर दी थी। हालांकि, इन सबसे के बीच ऐसा दावा किया जा रहा है कि आर्यन के जेल से बाहर आते ही उनके पेरेंट्स शाहरुख और गौरी ने अपने बेटे की सुरक्षा के लिए कुछ कदम उठाए हैं, जो यह बताने के लिए साफ है कि इनका सब का उनके रिश्ते पर भी कितना असर पड़ा है। (फोटोज-इंडिया टाइम्स)

aryan khan drug case shah rukh khan and gauri-khan-make-three-rules-for-his son after-bail-as-per-report

Advertisement

क्या हैं आर्यन के लिए तीन सख्त कदम?

‘बॉलीवुड लाइफ’ की एक खबर के मुताबिक खान परिवार के एक करीबी सूत्र ने बताया कि आर्यन खान के जेल से घर पहुंचते ही शाहरुख खान और गौरी खान ने तीन नियमों के बारे में बात की थी, जिसमें से एक आर्यन के पैरेंट्स चाहते हैं कि उन्हें उनसे जुड़ी किसी भी मीडिया कवरेज से बचाया जाए। पिछले कुछ हफ्तों में आर्यन को लेकर मीडिया में जो कुछ भी चल रहा है, वह उनसे उन्हें हैरान नहीं करना चाहते हैं।

दूसरा नियम आर्यन खान की कंपनी पर नजर रखना होगा। शाहरुख और गौरी चाहते हैं कि सोशल मीडिया पर उनके दोस्तों, उनसे मिलने या फोन पर बात करने वालों पर कड़ी नजर रखी जाए। वह नहीं चाहते कि आर्यन ऐसे लोगों के साथ रहें, जो उनके लिए किसी भी प्रकार की मुसीबत खड़ी कर सकते हैं।

Advertisement

तीसरा नियम यह है कि शाहरुख और गौरी ने आपस में यह फैसला किया है कि वह कुछ समय तक आर्यन को सार्वजनिक उपस्थिति से दूर रखेंगे। ऐसा करके वह न केवल अपने बेटे को अजीब स्थितियों-प्रश्नों या लोगों की प्रतिक्रिया से बचाएंगे बल्कि जब तक चीजें बेहतर नहीं हो जाती वह उन्हें बाहर जाने की भी इजाजत भी नहीं देंगे।

खैर, आर्यन जिस परिवार से आते हैं, वहां उनके ऊपर इस तरह की सख्ती करना लाजमी भी है। लेकिन कभी सोचा है कि बच्चे की एक गलती का असर पति-पत्नी के रिश्ते को कितना बर्बाद कर सकता है।

क्यों बढ़ जाते हैं पति-पत्नी में विवाद

एक स्टडी कहती है कि बच्चों के जन्म के बाद शादी की समस्याएं आम हो सकती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि बच्चों से जुड़ी परेशानियों को हल करने के लिए जोड़े एक-दूसरे के करीब तो आ जाएंगे, लेकिन उस तरीके से नहीं जिस तरह से वह उम्मीद करते हैं।

बच्चे की गलती के बाद पति-पत्नी के मन में एक-दूसरे के खिलाफ नकारात्मक विचार जन्म ले लेते हैं। मर्द जहां बच्चों के बिगड़ने में औरत की गलती बताते हैं कि वह उन पर किसी भी तरह का ध्यान नहीं दे पाईं, तो वहीं महिलाओं के दिमाग में पति का परिवार से पूरी तरह न जुड़ने वाली बातें घूमने लगती हैं, जिसका असर उनके रिश्ते पर पड़ना तय है। ‘मेरे बच्चे जब मुसीबत में होंगे तब सबसे पहले सलमान खैरियत लेने आएगा’ शाहरुख खान की कही ये बातें बुरे समय में दोस्ती की देती हैं तगड़ी मिसाल

तलाक होने की आ जाती है नौबत

बिंघमटन विश्वविद्यालय के शोधकर्ता मैथ्यू जॉनसन ने अपनी किताब ‘ग्रेट मिथ्स ऑफ इंटिमेट रिलेशनशिप’ में डेटिंग-सेक्स एंड मैरिज पर लिखा है कि ‘बच्चे के जन्म के बाद कपल्स के रिश्ते की संतुष्टि में कमी आती है। ऐसा इसलिए क्योंकि उस वक्त उनके सोचने का नजरिया पूरी तरह बदल जाता है।

कड़वी सच्चाई यह है कि बच्चे अपने कामों से माता-पिता के रिश्ते में तनाव पैदा कर सकते हैं, खासकर जब वह छोटे होते हैं। हालांकि, कुछ कपल्स जहां इस नाजुक स्ठिती को संभालने का प्रयास करते हैं, तो वहीं कइयों के बीच अलग होने की नौबत आ जाती है।’

इस बात में कोई दोराय नहीं कि शादी का पूरा सफर बहुत सारे अप्स एंड डाउंस से भरा होता है, जहां आप एक-दूससे से कंम्युनिकेट करके नहीं चले, तो मुसीबतों का बाहें फैलाना तय है। हालांकि, इस बीच ध्यान देने वाली यह है कि आप दोनों के लिए अपने रिश्ते में ‘सेम पेज’ यानी एक तरह की विचारधारा कितना मायने रखती है। आर्यन खान ने केस में शाहरुख और गौरी ने जिस तरह हिम्मत दिखाते हुए इस पूरे मामले को निपटाया, उससे साफ है कि यह कपल आसानी से अपने संबंधों को खराब करने वाला नहीं है। ‘मैं बहन की शादी नहीं होने दूंगा…कुछ नहीं कमाऊंगा’ जब दम तोड़ती मां से शाहरुख खान ने कही थी बेहद बुरी बात, वजह तोड़ देगी किसी का भी दिल

एक कपल के तौर पर रास्ता भटक गए

एक कपल बताता है कि ‘लोग कहते हैं कि शादी में बच्चे होना आप दोनों को पूरा करता है। मैंने और मेरी पत्नी ने भी उसी कहावत का पालन किया। हमारी शादी के 2 साल बाद हम एक स्वस्थ बच्चे के माता-पिता बनें। अब हम सभी एक खुश परिवार में थे और हम हमेशा साथ रहते थे। चाहे वह ट्रिप हो, सोशल गैदरिंग हो या फिर गेट-टुगेदर हो। ऐसा इसलिए क्योंकि मैंने और मेरी पत्नी ने खुद से वादा किया था कि हम जब माता-पिता होंगे, तो हम अपने बच्चों के जीवन की सभी चीजों में शामिल करेंगे। हमने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की, लेकिन इस प्रक्रिया में हम दोनों एक कपल के तौर पर रास्ता भटक गए।

बच्चों के कुछ दिनों बाद हम सभी आर्थिक परेशानी से घिर गए, जिसके लिए मेरी पत्नी ने भी मुझे कई बार फटकार लगाई। यह हमारी शादी का बहुत मुश्किल दौर था, जहां हम बच्चों के सामने मुस्कुराते थे लेकिन एक-दूसरे के सामने तिरस्कार करते थे। घर खर्च चलाने के लिए मैं और मेरी पत्नी ज्यादातर व्यस्त रहते थे, और हमारे पास जो समय होता था, वह हम अपने बच्चों के साथ बिताते थे।

हम एक-दूसरे से प्यार तो करते थे लेकिन यह हमारे लिए असहनीय होने लगा था। हालांकि, जब मेरी दोनों बेटियां बड़ी हो गईं, तो हमारे रिश्ते में भी चीजें बदलने लगीं। हमने पैसों की बचत करके न केवल मलेशिया की यात्रा करने की योजना बनाई बल्कि एक कपल के तौर पर हमने एक-दूसरे के साथ अद्भुत समय भी बिताया। इस दौरान हमें समझ आया कि बच्चे पैदा करने से पहले हमारा जीवन क्या था। हालांकि, अगले साल जब हमारी बेटियां अलग-अलग शहरों में नौकरी के लिए चली गईं तब मेरे और मेरी पत्नी के पास एक-दूसरे के लिए इतना समय था कि हम एक साथ समय बिता सकते हैं।

हम एक साथ मूवी थिएटर जाने लगे या कभी-कभार डिनर भी बुक कर लिया था, मुझे गलत मत समझो लेकिन बच्चों के बाद हमारी शादी बेहतर हो रही थी। खैर, कपल की इस बात से इतना तो साफ है कि शादी को बनाना और बिगड़ना पूरी तरह अपने हाथ में है। दो के तीन होने से परेशानी आना बहुत ही सामान्य सी बात है, लेकिन एक कपल के तौर पर आप एक-दूसरे को कितना सपोर्ट करते हो, वो भी बहुत जरूरी है।

 

Advertisement