Connect with us

विशेष

Coronavirus: महामारी के साइड इफेक्ट का पहला मामला, महिला के पूरे शरीर में जम गया पस

Published

on

Advertisement

Coronavirus: महामारी के साइड इफेक्ट का पहला मामला, महिला के पूरे शरीर में जम गया पस

 

दुनिया भर में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. ब्रिटेन (UK) में कोरोना के नए स्ट्रेन की दहशत कम भी नहीं हुई थी कि पोस्ट कोविड पीरियड में सामने आए एक और साइड इफेक्ट्स ने डॉक्टरों को हैरत में डाल दिया है. दिल्ली में कोरोना से ठीक मरीजों में नई बीमारी से पीड़ित होने के बाद ये अनोखा मामला है. महाराष्ट्र के औरंगाबाद (Aurangabaad) में कमर दर्द की शिकायत के बाद एक महिला के पूरे शरीर में पस भरा होने का पता चला. दुनिया में ऐसे 7 मामले सामने आ चुके हैं. भारत में पोस्ट कोविड पीरियड की ये पहला मामला है.

Advertisement

 

जानिए अनूठे केस की मेडिकल हिस्ट्री

डॉक्टरों को पीड़ित महिला के शरीर में कोरोना की एंटीबॉडी (Antibodies) मिली थी. कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण से ठीक होने के बाद सामने आया ये नया लक्षण है. हांलाकि राहत की बात ये रही कि इस महिला की तीन सर्जरी हो चुकी है और अब वह पूरी तरह से स्वस्थ है. जिले के बजाज नगर की रहने वाली ये महिला लंबे समय से कमर के दर्द की समस्या से पीड़ित थी जब वो औरंगाबाद के हेडगेवार अस्पताल गईं तब उनके पैर में सूजन भी थी. डॉक्टरों ने जांच के बाद उसकी MRI कराई और रिपोर्ट देखकर दंग रह गए.

Advertisement

शुक्र है कि बच गई महिला की जान

दरअसल महिला के पूरे शरीर में गर्दन से लेकर रीढ़ की हड्डी तक, यहां तक कि दोनों हाथों और पेट में भी पस भरा था. डॉक्टरों ने फौरन उसे एडमिट किया और सर्जरी से मवाद यानी पस निकाल कर नई जांच की. ऑपरेशन से उसकी जान बच गई. वहीं तीन बार की सर्जरी के प्रॉसेस में महिला के शरीर से आधा लीटर से ज्यादा पस निकला. इस महिला को 21 दिसंबर को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया. स्वस्थ होने के बाद महिला अब डॉक्टरों की शुक्रगुजार है.

यूरोप में सामने आए ऐसे 6 खतरनाक केस

अमेरिका और यूरोप में कोरोना वायरस का सबसे खतरनाक म्यूटेशन यानी भीषण रूप देखने को मिला है. इस कड़ी में इम्यूनिटी से इतर बात करें तो अकेले यूरोप के जर्मनी में ऐसे 6 केस सामने आए हैं. अस्पताल अधीक्षक के मुताबिक इस केस पर अभी और स्टडी जारी है. उन्हें ऐसे केस की जानकारी जर्नल ऑफ न्यूरोलॉजी के सितंबर अंक में ‘कोरोना से ठीक होने के बादअसामान्य लक्षण’ विषय पर मिली थी

Advertisement
Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *