Connect with us

City

पानीपत में वकील के चैंबर में चली गोली:स्टेशनरी संचालिका के पैर में लगे छर्रे

Published

on

पानीपत में वकील के चैंबर में चली गोली

हरियाणा के पानीपत जिले एक वकील के चैंबर में बुधवार सुबह 11 बजे के करीब गोली चल गई। दूसरे फ्लोर पर चैंबर नंबर 267 के बाहर अज्ञात आरोपी ने गोली चला दी। गोली के छर्रे चैंबर के पास में बैठी स्टेशनरी संचालिका सपना के पैर में लगे। वही चैंबर का शीशा भी टूट गया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी मिलते ही DSP, CIA और शहर थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे और कार्रवाई में जुट गए। वहीं दूसरी तरफ घायल महिला को इलाज के लिए सामान्य अस्पताल ले जाया गया है। एडवोकेट गिरधारी लाल गोयल ने बताया कि वह अपने चैंबर में एडवोकेट याशिका और मुंशी शिवकुमार के साथ था। इस दौरान गोली चलने की आवाज सुनाई दी।

इस चेंबर के बाहर गोली चली

इस चेंबर के बाहर गोली चली।

 

दरवाजे का शीशा टूट कर चैंबर के अंदर आ गिरा। 10 मिनट में ही पुलिस मौके पर पहुंची, तब तक वह चैंबर के अंदर ही बैठे रहे। पुलिस के आने पर ही वह चैंबर से बाहर निकले तो देखा कि उनके चैंबर के बाहर फर्श पर एक खोल पड़ा हुआ था और फर्श में छेद था।

स्टेशनरी संचालिका के पैर में लगे छर्रे

मुंशी शिव कुमार ने बताया कि उनके चैंबर की साइड में सपना स्टेशनरी है। गोली चलने से सपना के पैर में छर्रे लगे हैं। उसे इलाज के लिए सामान्य अस्पताल पहुंचाया गया है, जहां डॉक्टरों की टीम उसके इलाज में जुट गई है।

पानीपत में वकील के चैंबर में चली गोली

पानीपत में वकील के चैंबर में चली गोली

वकीलों के मन में डर का माहौल

गोली चलने के बाद से जहां एक और वकीलों के मन में डर का माहौल है, वहीं वकीलों की प्रशासन और पुलिस से खासतौर से मांग है कि मामले की जांच की जाए कि आखिर लोडिड हथियार कोर्ट परिसर में क्यों लाया गया। गोली किस किस तरह चली, क्यों चली, इसकी निष्पक्ष जांच की जाए।

पुलिस के अनुसार ऐसे चली गोली

जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि साल 2017 में पानीपत लाल बत्ती स्थित राजकीय मॉडल संस्कृति स्कूल के बाहर हुए भाई सतबीर की हत्या के मामले में भाभी राजो और भाई फूल कुवार की आज गवाई थी। दूसरी मंजिल पर मौजूद अपने वकील के चैम्बर में जा रहे थे। जब रणबीर हाथ में डोगा हथियार लेकर ऊपर रहा था तो उसका पैर अचानक सीड़ियों में उलझ गया और डोगा हथियार जमीन पर लग गया, साथ ही ट्रिगर दब गया।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *