Connect with us

विशेष

सिंघु बॉर्डर पर बवाल, किसानों और स्थानीय लोगों के बीच पत्थरबाजी

Published

on

Advertisement

सिंघु बॉर्डर पर बवाल, किसानों और स्थानीय लोगों के बीच पत्थरबाजी

 

कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसानों के आंदोलन में एक बार फिर संघर्ष हुआ है. दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर शुक्रवार को किसान प्रदर्शनकारियों और स्थानीय प्रदर्शनकारियों के बीच बवाल हुआ. दोनों गुटों के बीच पत्थरबाजी हुई और एक दूसरे पर हमला किया गया.

Advertisement

स्थानीय प्रदर्शनकारी शुक्रवार सुबह से ही किसान आंदोलनकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे और हाईवे खाली करने की मांग की गई.

सिंघु बॉर्डर के पास जबरदस्त बवाल

Advertisement

दोनों गुटों में जारी संघर्ष और पत्थरबाजी के दौरान पुलिस ने भी लाठीचार्ज किया और प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की. हालांकि, इस बवाल के बीच कई लोगों और पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है.

इसी बवाल के बीच SHO अलीपुर पर एक प्रदर्शनकारी ने तलवार से हमला किया. पुलिस ने हमला करने वाले व्यक्ति को हिरासत में ले लिया है. यहां पर कुछ देर के लिए पत्थरबाजी रुकी, लेकिन दोपहर करीब ढाई बजे एक बार फिर प्रदर्शनकारियों ने एक-दूसरे की तरफ पत्थर फेकें.

Advertisement

स्थानीय लोग कर रहे हैं हाईवे खाली करने की मांग
शुक्रवार सुबह ही दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर बड़ी संख्या में लोग किसान प्रदर्शनकारियों के खिलाफ प्रदर्शन करने आए थे. यहां पर ‘तिरंगे का अपमान, नहीं सहेगा हिंदुस्तान’ के नारे लगाए गए और तुरंत हाइवे खाली करने की मांग की गई.

गौरतलब है कि कल यानी गुरुवार को भी स्थानीय लोगों ने सिंघु बॉर्डर पर धरने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था. इन लोगों ने खुद को हिंदू सेना का बताया था और कहा था कि लाल किले पर तिरंगे का जो अपमान हुआ है वो इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे.

हालांकि कल पुलिस ने इनको वहां से खदेड़ दिया था. उसके बाद गाजीपुर में भी स्थानीय लोग किसानों के धरने के खिलाफ प्रदर्शन करने पहुंचे थे. हालांकि मौके पर मौजूद भारी पुलिस बल ने उन्हें किसानों तक नहीं पहुंचने दिया था.

आपको बता दें कि गुरुवार को गाजीपुर बॉर्डर पर भी तनावपूर्ण स्थिति बन गई थी. गाजीपुर बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिसफोर्स पहुंची थी और प्रदर्शनकारियों को हटाने की कोशिश की गई.

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *