Connect with us

पानीपत

पड़ने लगी कड़ाके की ठंड, 4 डिग्री दर्ज किया गया न्यूनतम पारा, कोहरे से होगा नववर्ष का स्वागत

Published

on

Advertisement

पड़ने लगी कड़ाके की ठंड, 4 डिग्री दर्ज किया गया न्यूनतम पारा, कोहरे से होगा नववर्ष का स्वागत

 

अफगानिस्तान से जम्मू एंड कश्मीर की ओर मूव हो रहे पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव के कारण मौसम में धीरे-धीरे कर बदलाव आने लगा है। इस बार नववर्ष का स्वागत कड़ाके की ठंड और घने कोहरे से हो सकता है। 1 जनवरी को दिन का तापमान 14 डिग्री होने के आसार बन रहे हैं। वहीं, न्यूनतम तापमान भी जमाव बिंदु तक पहुंच सकता है। मौसम विभाग आशंका ईरान रहा है कि आने वाले दिनों में ठंड इस सीजन के दिन और रात के तापमान के रिकॉर्ड तोड़ सकती है।

Advertisement

वहीं, रविवार सुबह भी घना कोहरा छाया रहा। विजिबिलिटी 10 मीटर तक रह गई। दिसबंर की शुरुआत से अब तक मौसम में कई बार बदलाव आ चुके हैं। ये बदलाव लगातार मूव हो रहे पश्चिमी विक्षोभ के कारण आ रहे हैं। इरान की तरफ से मूव हुए पश्चिमी विक्षोभ के कारण 12 दिसंबर की रात से कड़ाके की ठंड ने दस्तक दे दी थी। 13 दिसंबर को दिन का तापमान 26 डिग्री से गिरकर 14 डिग्री पर आकर स्थिर हो गया था।

Advertisement

यह तापमान 5 दिन तक लगातार 14 डिग्री पर स्थिर रहा। इस बीच रात का तापमान भी 4 डिग्री तक पहुंच गया था। 18 दिसंबर को विंड पैटर्न में बदलाव आ गया। उत्तरी-पश्चिमी हवाओं के संग दक्षिणी हवाएं मिल गई। इस कारण दिन के तापमान का बढ़ना शुरू हो गया। इससे लोगों को राहत मिल गई। पिछले 25 दिसंबर तक दिन का तापमान 20 से 22 डिग्री की बीच दर्ज किया गया।

तीसरी बार छाया घना कोहरा

Advertisement

दिसंबर में तीसरी बार रविवार की सुबह घने कोहरे ने दस्तक दी। रविवार देर रात तक तो हल्की धुंध छाई रही। रविवार सुबह लोग सोकर जागे तो उनका सामना घने कोहरे से हुआ। सुबह 9 बजे हालात ये थे कि लोग 10 मीटर दूर तक नहीं देख पा रहे थे। इस कारण हाईवे पर वाहन रेंग-रेंग कर चल रहे थे। सुबह 11 बजे के बाद धूप निकलने के साथ ही कोहरे का छंटना शुरू हो गया।

पहाड़ों पर बर्फबारी से खिल उठी ठंड

मौसम विशेषज्ञ डॉ. डीपी दुबे ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के मूव होने के कारण विंड पैटर्न सेट हो रहा है। 28 दिसंबर से उत्तरी-पश्चिमी हवाएं चलेंगी। इन हवाओं संग पहाड़ाें पर हो रही बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों तक पहुंचना शुरू हो जाएगा। इस बीच बादल भी छा सकते हैं। इस कारण 1 जनवरी तक दिन और रात का तापमान इस सीजन के न्यूनतम स्तर को छू सकते हैं।

278 रिकॉर्ड किया गया एक्यूआई

ठंड के कारण लोग जगह-जगह अलाव जला रहे हैं। कोई तो कूड़े के ढेर या टायर में ही आग लगा रहा है। इस कारण पिछले 4 दिन से हवा की गुणवत्ता का बिगड़ना शुरू हो गया है। रविवार को एक्यूआई 278 दर्ज किया गया। जोकि मानक से तीन गुना अधिक है। एयर क्वालिटी इंडेक्स शनिवार को 240, शुक्रवार को 185, गुरुवार को 305, बुधवार को 327, मंगलवार को 356 दर्ज किया गया था। यह स्तर सेहत के लिए हानिकारक है।

 

 

Source : Bhaskar

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *