Connect with us

पानीपत

किला, इंसार बाजार, पुराना शहर और कुटानी रोड क्षेत्र के उपभोक्ताओं को स्मार्ट बनाने का काम शुरू

Published

on

किला, इंसार बाजार, पुराना शहर और कुटानी रोड क्षेत्र के उपभोक्ताओं को स्मार्ट बनाने का काम शुरू

 

 

बिजली निगम के सिटी सब डिविजन के अंतर्गत आने वाले उपभोक्ताओं को भी स्मार्ट बनाने पर काम शुरू हो गया है। इस डिविजन में पड़ने वाले 32000 उपभोक्ताओं के बिजली कनेक्शनों पर भी स्मार्ट मीटर मीटर लगने शुरू हो गए हैं। सिटी सब डिविजन में पड़ने वाले विशेष रूप से किला क्षेत्र, इंसार बाजार, सेठी चौक, कुटानी रोड, तहसील कैंप व देवी मंदिर क्षेत्र में ये नए स्मार्ट मीटर लगाए जा रहे हैं। एसडीओ जतिन जांगड़ा का कहना है कि इस काम को जल्दी ही पूरा कर दिया जाएगा।

अप्रैल से प्रत्येक घर में स्मार्ट मीटर लगाना किया था अनिवार्य

उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम ने पूरे शहर में स्मार्ट मीटर लगाना अनिवार्य कर दिया जाएगा। केंद्र सरकार ने देशभर के सभी बिजली निगमों व कंपनियाें को 2022 का लक्ष्य दिया है।

बिना रिचार्ज नहीं मिलेगी बिजली

सभी उपभोक्ताओं के कनेक्शनों पर स्मार्ट मीटर लगने के बाद बिना मीटर को रिचार्ज कराए घर में बिजली की सप्लाई नहीं मिलेगी। उपभोक्ताओं को मोबाइल फोन की तरह बिजली को रिचार्ज कराना होगा। उपभोक्ताओं को पोस्टपेड सुविधा भी दी जाएगी। इसके साथ ही उपभोक्ताओं के घर में बिजली का बिल पहुंचने के दिन समाप्त हो जाएंगे।

लाइन लॉस को किया जाएगा कम

इन मीटरों को लगाने का मुख्य उद्देश्य बिजली निगमों के घाटे व लाइन लॉस को कम करना है। अभी देश भर में लाइन लॉस कई राज्यों में 50 फीसदी से अधिक है। यह लाइन लॉस बिजली चोरी करने व कम लोड लेकर ज्यादा बिजली प्रयोग करने से तय किया जाता है। प्रीपेड मीटर लग जाने के बाद लाइन लॉस कम होने की उम्मीद है।

इस मीटर के कई हैं फायदे : एसडीओ

मीटर लगने के कई फायदे होंगे। उपभोक्ताओं को बिल भेजे जाने की समस्या खत्म होगी। बिजली कंपनियों पर बकाया का भार नहीं रहेगा। स्मार्ट मीटर के तमाम फायदों को ध्यान में रखते हुए इन्हें लगाना अनिवार्य किया गया है। जतिन जांगड़ा, एसडीओ, सिटी सब डिविजन, बिजली निगम, पानीपत।