Connect with us

पानीपत

सेक्टर 25 की रोड देखिए, इतनी लापरवाही से बनवायी सड़क जैसे डफ़र लोगों ने बनाई हो

Published

on

Advertisement

सेक्टर 25 की रोड देखिए, इतनी लापरवाही से बनवायी सड़क जैसे डफ़र लोगों ने बनाई हो

सेक्टर-25 मित्तल मेगा मॉल रोड पर नगर निगम और पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग विभाग की इंजीनियरिंग के बेजोड़ नमूने से पब्लिक परेशान है। कहीं सड़क से कम से कम 4 इंच ऊपर सीवर के ढक्कन हैं तो कहीं एक इंच गड्ढे में सीवर के ढक्कन। दोनों विभागों के इंजीनियरों की लापरवाही से सड़क और सीवर के स्लैब को खतरनाक छोड़कर ठेकेदार चले गए। स्थिति बहुत ही गंभीर है, क्योंकि 1.55 करोड़ रुपए की लागत से अग्रसेन चौक से ड्रेन-1 तक 1 किलोमीटर दायरे में पहले सीवर लाइन दबाई गई। इसके दो साल बाद 1.80 करोड़ रुपए की लागत से सड़क बनाई गई। बावजूद इसके यहां से गुजरने वालों की जान आफत में है। सवाल ये है कि क्या किसी बड़े हादसे के इंतजार में अफसर बैठे हुए हैं?

Advertisement

अग्रसेन चौक से जिमखाना क्लब तक 10 स्लैब, जिनमें 7 के ढक्कन सड़क से ऊपर हैं

Advertisement

अग्रसेन चौक से जिमखाना क्लब तक 10 स्लैब हैं। इसमें 7 के ढक्कन रोड से ऊपर हैं। एक में गड्ढा बना है। तो पेट्रोल पंप के सामने का स्लैब टूट रहा है। इसकी बजरी उखड़ गई है। यह कभी भी टूट सकता है। वहीं, अग्रसेन चौक पर पहला गोल ढक्कन भी टूट गया है। जिमखाना क्लब से ड्रेन-1 तक 5 स्लैब हैं। इसमें 4 का कंस्ट्रक्शन भी ठीक नहीं है।

एक्सपर्ट बोले- साइट नहीं देखते अफसर, पूरा काम ठेकेदार पर छोड़ देते हैं, इसलिए ये हाल

Advertisement

नगर निगम के पूर्व इंजीनियर एनके जिंदल ने मित्तल मेगा मॉल रोड की साइट देखने के बाद कहा कि यह दोनों विभागों के इंजीनियरिंग विंग के अफसरों की घोर लापरवाही का नतीजा है। किसी ने साइट देखी नहीं, ठेकेदार पर छोड़ दिया। इसलिए, सीवर वाला जैसे-तैसे ढक्कन लगा गया और रोड बनाने वाला सड़क।

सीवर के स्लैब के ढलान ठीक नहीं, इसलिए सड़क समतल नहीं बनी

रोड बनाने वाले ठेकेदार बिजली सिंह ने कहा कि सीवर के स्लैब के स्लोप ठीक नहीं हैं। एक ही स्लैब के दो सिरे ऊपर नीचे बने हुए हैं। ऐसे में सड़क कैसे समतल बनेगी। बिजली सिंह ने कहा कि हमारी कोई गलती नहीं है। सिर्फ सीवर लाइन बनाने वाला विभाग और ठेकेदार जिम्मेदार है।

दोनों विभागों के अफसर ठेकेदारों के पक्ष में खड़े

मामला इसलिए गंभीर है, क्योंकि दोनों विभागों के अफसर अपने-अपने ठेकेदारों के पक्ष में खड़े हैं। पब्लिक हेल्थ के अफसर कह रहे हैं कि रोड बनाने वाले निगम के ठेकेदार की गलती है, वहीं निगम के अफसर कह रहे हैं कि सीवर लाइन डालने वाले पब्लिक हेल्थ के ठेकेदार की गलती है।

स्लोप बनाकर सड़क ठीक करेगा ठेकेदार: चीफ इंजी.

सीवर के ढक्कन ठीक से नहीं बनाए गए। इसलिए यह नौबत आ रही है। जहां-जहां सीवर के ढक्कन की ऊंचाई ज्यादा है, वहां सड़क पर मैटीरियल डालकर स्लोप बनाया जाएगा। ताकि हादसे न हो। -महिपाल सिंह, चीफ इंजी, निगम

ठेकेदार ने रोड ठीक से नहीं बनाई: एक्सईएन

निगम के ठेकेदार ने रोड ठीक से नहीं बनाई। उसे लेवलिंग से रोड बनाना चाहिए। जहां कहीं ढक्कन की दिक्कत है उसे ठीक कराएंगे। ढक्कन में रिंग डाली जाएगी। -राजेश कौशिक, एक्सईएन पब्लिक हेल्थ, अतिरिक्त प्रभार सीवरेज

 

 

 

Source : Bhaskarv

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *