Connect with us

City

पानीपत में तैयार हो रहा है स्टेडियम, जानिए खासियत

Published

on

Advertisement

पानीपत में तैयार हो रहा है स्टेडियम, खिलाड़ियों को अभ्यास में होगी सुविधा, जानिए खासियत

खेल विभाग का जिला स्तरीय स्टेडियम माडल टाउन स्थित शिवाजी स्टेडियम है। इस स्टेडियम का ट्रैक भी बदहाल है और खेल के सामान की भी कमी है। इसी वजह से यहां से खिलाड़ी मजबूरी में दूसरे जिलों में पलायन कर रहे हैं। खिलाड़ियों की दिक्कत को देखते हुए सरकार द्वारा सिवाह गांव के चौटाला रोड पर 14 एकड़ पंचायती जमीन पर स्टेडियम का निर्माण कराया जा रहा है। इसके निर्माण पर 27 करोड़ 53 लाख 80 हजार रुपये खर्च होने हैं। 27 सितंबर 2019 से निर्माण कार्य शुरू हुआ था। पीडब्ल्यूडी के एसडीओ रामपाल के अनुसार स्टेडियम के निर्माण का 80 प्रतिशत काम हो चुका है। जनवरी 2022 में निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा। इसके बाद खिलाड़ी अभ्यास कर पाएंगे। यह स्टेडियम प्रदेश के सबसे आधुनिक स्टेडियमों से एक होगा। इसमें खेल के सामान की कमहीं नहीं होगी।

पानीपत के सिवाह चौटाला स्थित निर्माणाधीन स्टेडियम के बना ट्रैक।

Advertisement

लाजबाव सिथेंटिक ट्रैक होगा

सिवाह के स्टेडियम में 400 मीटर का सिंथेटिक का ट्रैक बन चुका है। इसमें दौड़, लांग जंप, हाई जंप व ट्रिपल जंप और फेंकने के जैवलिन, डिस्कस, शाटपुट और हेमर के इवेंट के खिलाड़ियों को अभ्यास की सुविधा होगी। इसके साथ लगते ही स्वीमिंग पुल का भी निर्माण कार्य चल रहा है। यहीं पर मल्टी पर्पज हाल और इंडोर गेम्स की मैदान भी बनाए जा रहे हैं। इसके साथ में ही वालीबाल, कुश्ती, कबड्डी, हैंडबाल, हाकी के मैदान बनाए जाएंगे।

Advertisement

सुविधा मिले तो ज्यादा पदक जीत पाएंगे

पूर्व अंतरराष्ट्रीय कुश्ती प्रेम सिंह आंतिल का कहना है कि जिले में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं है। सागर पहलवान सब जूनियर कुश्ती चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीत चुके हैं। इसी तरह से नितेश, राधिका सहित एक दर्जन पहलवान राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिताओं में पदक जीत चुके हैं। खेल का सामान व मैदान अच्छे हो तो पहलवान और ज्यादा पदक जीत पाएंगे। खंडरा गांव के नीरज चोपड़ा ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीत चुके हैं। सिवाह वाले स्टेडियम में खेल सुविधाएं अच्छी होगी तो हमारे कुश्ती के अलावा अन्य खेलों में भी बेहतरीन प्रदर्शन कर पाएंगे।

Advertisement
Advertisement