Connect with us

City

हरियाणा सीएम दरबार में अजब गजब मामला, एक बल्‍ब जलाने का बिल 98 हजार 226 रुपये

Published

on

Advertisement

Amazing: हरियाणा सीएम दरबार में अजब गजब मामला, एक बल्‍ब जलाने का बिल 98 हजार 226 रुपये

कुरुक्षेत्र के खंड पिपली के गांव बजीदपुर की एक महिला के बिजली बिल का मामला मुख्यमंत्री के दरबार में पहुंच गया है। विद्या देवी ने सीएम विंडो में गुहार लगाई है कि बिजली निगम के अधिकारियों ने उसका खराब मीटर तो नहीं बदला, बल्कि 98 हजार 226 रुपये का बिल भेज दिया। इतनी भारी राशि का बिल देखकर उसके होश उड़ गए और उसे मजबूरन न्याय लेने के लिए सीएम विंडो का दरवाजा खटखटाना पड़ा।

हरियाणा बिजली निगम का अजब गजब मामला।

Advertisement

विद्या देवी ने सीएम विंडो में दी शिकायत में बताया है कि उसके घर पर बिजली का कनेक्शन लगा हुआ था। जो अचानक चलते चलते खराब हो गया। खराब मीटर को ठीक कराने के लिए उसने 17 दिसंबर 2020 को बिजली निगम पिपली के उपमंडल अधिकारी को शिकायत दी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। जब उसकी शिकायत पर निगम के अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की तो उसने 15 फरवरी को दोबारा से बिजली निगम पिपली के उपमंडल अधिकारी के कार्यालय में फरियाद कर मीटर को ठीक करने की गुहार लगाई।

इसके बावजूद भी अधिकारियों ने उसकी शिकायत को देखा तक नहीं। इसके बाद 12 अगस्त 2021 को उसने निराश होकर निगम के उच्च अधिकारियों और टोल फ्री नंबर पर मीटर को ठीक करने की फरियाद की, लेकिन फिर भी अधिकारी जागे नहीं। विद्या देवी का कहना है कि अधिकारियों ने उसकी शिकायत पर कोई संज्ञान नहीं लिया, बल्कि उल्टा उसके पास 98 हजार 226 रुपये की राशि का बिल भेज दिया। जिसे देखकर उसके होश उड़ गए।

Advertisement

बिल के आने के बाद उसने दोबारा से अधिकारियों के कार्यालय पर जाकर फरियाद की, लेकिन किसी भी अधिकारी ने उसकी कोई सुनवाई नहीं की। विद्या देवी का कहना है कि वह मेहनत मजदूरी कर अपने बच्चों का पालन पोषण कर रही है। उसके घर पर केवल एक बल्ब जलता था। बिजली निगम विभाग ने भारी भरकम राशि का बिल भेज कर उसके लिए मुसीबतें खड़ी कर दी हैं। अब उसे मजबूरन सीएम विंडो का दरवाजा खटखटाना पड़ा है।

महिला का बिल और मीटर करवाया जाएगा ठीक : अधीक्षक अभियंता

Advertisement

बिजली निगम के अधीक्षक अभियंता कर्ण सिंह भोरिया ने बताया कि यह मामला उनके संज्ञान में नहीं है। अगर महिला के साथ ऐसी कोई दिक्कत है तो वह उनके कार्यालय में आकर संपर्क कर सकती है। उनका गलत बिल ठीक किया जाएगा और मीटर भी ठीक कराकर लगवा दिया जाएगा।

Advertisement