Connect with us

City

हरियाणा में बिजली चोरी करने वालों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई, पानीपत में 304 लोग पकड़े, 87 लाख का जुर्माना

Published

on

हरियाणा में बिजली चोरी करने वालों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई, पानीपत में 304 लोग पकड़े, 87 लाख का जुर्माना

पानीपत बिजली निगम की ओर से शनिवार को बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ताओं के खिलाफ सर्कल में चेकिंग अभियान चलाया गया। विभागीय अधिकारियों व कर्मचारी की गठित 53 टीमों ने सुबह साढ़े पांच से शाम छह बजे तक शहरी व ग्रामीण आंचल में 1397 जगहों पर चेकिंग की। 304 जगहों पर बिजली चोरी पकड़ी गई। पकड़े गए उपभोक्ताओं पर 87.78 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। उपभोक्ता 589 किलोवाट का लोड खर्च कर रहे थे। निगम की कार्रवाई से बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ताओं में दिन भर हड़कंप मचा रहा। खुद रोहतक जोन के चीफ इंजीनियर एके रहेजा, एसई एसएस ढुल व एक्सईएन सिटी डिविजन वीके गोयल भी टीमों के साथ फील्ड में उतरे। सबसे ज्यादा सब अर्बन डिविजन में 125 उपभोक्ता बिजली चोरी करते पकड़े गए। सिटी डिविजन में 90 व समालखा डिविजन में 89 उपभोक्ता बिजली चोरी करते पाए गए।

पानीपत में बिजली चोरी करते पकड़े गए 304 उपभोक्ता।

कार्यालय की बजाय सब स्टेशन में बनाया कंट्रोल रूम

स्थानीय अधिकारियों ने शुक्रवार रात 12 बजे से ही तैयारी शुरु कर दी थी। शनिवार सुबह चार बजे टीमें गठित कर दी गई। कार्रवाई की भनक किसी को चेकिंग शुरु होने से पहले न लगे, इसको लेकर गोहाना रोड स्थित कार्यालय की बजाय सेक्टर छह स्थित मिनी लघु सचिवालय 33 केवी सब स्टेशन के सभाकार में कंट्रोल रूम बनाया गया। वहीं से अधिकारी छापेमारी में लगी टीमों से अपडेट लेते रहे।

53 टीमों ने की छापेमारी

एसई एसएस ढुल ने जागरण को बताया कि चेकिंग अभियान को लेकर सर्कल में 53 टीमें गठित की गई। इनमें से 30 टीमें अन्य जिलों के अधिकारियों व कर्मचारियों की गठित की गई। जबकि 23 टीमें स्थानीय अधिकारी व कर्मचारियों की बनाई गई। सभी टीमों ने सुबह साढ़े पांच से शाम छह बजे तक छापेमारी की।

डीएस व एनडीएस उपभोक्ता पकड़े गए

बिजली चोरी करते पकड़े गए उपभोक्ताओं में 282 डीएस व 22 एनडीएस कनेक्शन धारक हैं। 43 जगह इंडस्ट्री में भी चेकिंग की गई। कोई चोरी नहीं मिली। एसई ने कहा कि बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ताओं के खिलाफ उनका ये अभियान लगातार जारी रहेगी।

इस तरह से उपभोक्ता कर रहे थे चोरी

एसई ने बताया कि ग्रामीण व शहरी आंचल में चेकिंग अभियान चला। जो उपभोक्ता बिजली चोरी करते पकड़े गए। इनमें से ज्यादातर केबल में कट करके या मीटर को बाइपास कर बिजली चोरी करते मिले। कुछ ने इनकमिंग केबल को काटकर व कुछ टर्मिनल बाक्स में ही नीचे से तारें लगा चोरी करते भी पाए गए।

किस सब डिविजन में कितने उपभोक्ताओं को बिजली चोरी करते पकड़ा

— सिटी सब डिविजन में 114 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग की। इनमें से 23 को बिजली चोरी करते पकड़ा। उन पर 4.06 लाख जुर्माना लगाया गया।

— माडल टाउन सब डिविजन में 186 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग की गई। इनमें से 47 को बिजली चोरी करते पकड़ा। उन पर 8.70 लाख जुर्माना लगाया गया।

— सनौली रोड सब डिविजन में 140 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग की गई। इनमें से 20 को बिजली चोरी करते पकड़ा। उन पर 20.87 लाख जुर्माना लगाया गया।

— सब अर्बन सब डिविजन में 427 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग में 40 को बिजली चोरी करते पकड़ा। उन पर 9.71 लाख जुर्माना लगाया गया।

— मतलौडा सब डिविजन में 83 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग में 32 को बिजली चोरी करते पकड़ा। उन पर 8.95 लाख जुर्माना लगाया गया।

— इसराना सब डिविजन में 155 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग में 53 को बिजली चोरी करते पाया गया। उन पर 12.30 लाख जुर्माना किया।

— समालखा सब डिविजन में 96 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग की गई। जिनमें से 25 को बिजली चोरी करते पाया गया। उन पर 5.64 लाख जुर्माना किया।

— बिहोली सब डिविजन में 57 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग की गई। जिनमें से 22 को बिजली चोरी करते पाया गया। उन पर 3.80 लाख जुर्माना किया।

— छाजपुर सब डिविजन में 76 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग की गई। जिनमें से 26 को बिजली चोरी करते पाया गया। उन पर 8.02 लाख जुर्माना किया।

— बापौली सब डिविजन में 63 उपभोक्ताओं के यहां चेकिंग की गई। जिनमें से 16 को बिजली चोरी करते पाया गया। उन पर 5.73 लाख जुर्माना किया।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *