Connect with us

पानीपत

रविवार सुबह बने लोकल सिस्टम के कारण आधे शहर में हुई बारिश, 20 गिरा तापमान

Published

on

Spread the love

रविवार सुबह बने लोकल सिस्टम के कारण आधे शहर में हुई बारिश, 20 गिरा तापमान

 

 

बंगाल की खाड़ी से आए लो-प्रेशर को राजस्थान पर बने एंटी साइक्लोन ने बेअसर कर दिया है। इस साइक्लोन के कारण हवाएं ऊपर की तरफ नहीं उठ पा रही हैं। पिछले 3 दिन से बादल तो छा रहे हैं, लेकिन वह बिन बरसे ही आगे बढ़ रहे हैं। रविवार सुबह बने लोकल सिस्टम के कारण शहर में कहीं-कहीं ही बारिश हुई। रविवार को करीब 2 एमएम बारिश दर्ज की गई। इस बारिश से तापमान में दो डिग्री की गिरावट आई, लेकिन कुछ देर बाद ही धूप खिलने से उमस ने परेशान कर दिया।

मौसम विभाग के अनुसार अगले दो या 3 दिन में उत्तरी-पश्चिमी हवाओं का चलना शुरू हो सकता है। इससे उमस से राहत मिल सकेगी। इस माॅनसूनी सीजन के तहत मौसम की बेरुखी से तापमान और उमस में बढ़ोत्तरी हो गई है। इस मौसम में कभी ठंडक और कभी गर्मी हो रही है। इस कारण लोग बीमार हो रहे हैं। रविवार सुबह बादलों का छाना शुरू हो गया।

दोपहर 11 बजे अचानक ही मौसम में बदलाव आ गया। काले बादल छा गए। करीब सवा 11 बजे शुरू हुई बारिश 20 मिनट तक होती रही। इस बीच 15 से 20 किलोमीटर की रफ्तार से हवाओं का चलना शुरू हो गया। बारिश बंद होने के कुछ देर बाद ही धूप खिल आई। इससे उमस और बढ़ गई। रविवार को अधिकतम तापमान शनिवार के मुकाबले दो डिग्री कम 33.4 डिग्री और न्यूनतम तापमान 26.5 डिग्री दर्ज किया गया। वहीं, आद्रता 98 प्रतिशत रही।
मौसम में इसलिए आ रहा है बदलाव

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक डॉ. डीपी दुबे ने बताया कि 10 सितंबर को बंगाल की खाड़ी पर निम्न दबाव का क्षेत्र बन गया था। जो आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश होते हुए दिल्ली, हरियाणा की तरफ बढ़ रहा है लेकिन इस बीच राजस्थान पर एंटी साइक्लोन बन गया है जो लो-प्रेशर एरिया से आ रही नमी वाली हवाओं की रफ्तार को कम कर रहा है। अगर ये एंटी साइक्लोन पंजाब की तरफ बढ़ गया तो उत्तरी-पूर्वी हरियाणा में बारिश के आसार बढ़ जाएंगे। अगले दो या तीन दिन में उत्तरी-पश्चिमी हवाओं का चलना शुरू हो सकता है। इन हवाओं में नमी है। इससे तापमान में गिरावट आ जाएगी।