Connect with us

पानीपत

मुरथल से खाना खाकर गए हज़ारों लोगों को ट्रेस किया जा रहा है, आप भी कीजिए मदद

Published

on

Spread the love

मुरथल से खाना खाकर गए हज़ारों लोगों को ट्रेस किया जा रहा है, आप भी कीजिए मदद

 

दिल्ली से सटे सोनीपत के मुरथल में स्थित अमरीक सुखदेव और गरम धरम ढाबों पर 80 से अधिक कर्मचारियों के कोरोना की चपेट में आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। देश-दुनिया में लोकप्रिय इन दोनों ढाबों पर कोरोना काल में भी रोजाना 3000 लोग आ रहे थे, इसलिए सोनीपत जिला प्रशासन के लिए यहां पर आने वालों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग चुनौती बन गया है। वहीं, जिला प्रशासन से जु़ड़े अधिकारियों की मानें तो पिछले एक सप्ताह के दौरान हजारों लोगों ने देश-दुनिया में लोकप्रिय अमरीक सुखदेव और गरम-धरम ढाबों का दौरा किया था, लेकिन सही संख्या का पता नहीं लग सका है। वहीं, सोनीपत जिला कलेक्टर श्याम लाल पूनिया ने कहा कि कॉटैक्ट ट्रेसिंग का काम शुरू हो चुका है, इसमें समय लगेगा।

Murthals Sukhdev Dhaba & Garam Dharam Dhaba: सैकड़ों लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का काम तेज, आपको करना होगा ये काम

लोगों से प्रशासन की गुजारिश

जिला प्रशासन यहां पर पराठे खाने आए लोगों से गुजारिश कर चुका है कि वे अपना टेस्ट करवा लें, क्योंकि ऐसा नहीं करने की स्थिति में कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से फैलने का खतरा बढ़ जाता है। बताया जा रहा है कि यहां पर पिछले एक पखवाड़े के दौरान आए लोगों ने टेस्ट करवाने के लिए पूछताछ तेज कर दी है।

ढाबों के रिसेप्शन से मिल सकती है मदद

बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन ने दोनों चर्चित ढाबों के संचालकों से रजिस्टर आदि मंगाए हैं, जिनसे यहां पर आने वालों लोगों तक पहुंचा जा चुका है। वहीं, ढाबा संचालकों की मानें तो उन्होंने यहां पर आने वालों की सारी जानकारी जिला प्रशासन को मुहैया करा दी है।

दोनों ढाबों के संचालकों को कारण बताओ नोटिस
अमरीक-सुखदेव व गरम-धरम ढाबे पर कर्मचारियों के कोरोना संक्रमण मिलने पर प्रशासन की ओर से दोनों ढाबों के संचालकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। शनिवार की शाम को उपायुक्त श्यामलाल पूनिया ने जीटी रोड स्थित विभिन्न रेस्तरांओं-ढाबों की जांच की। उपायुक्त ने कहा कि दोनों ढाबों में निर्धारित नियमों की अनुपालना नहीं की गई, जिसके चलते उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

बिना पूरी जानकारी के नहीं मिलेगा ढाबों में प्रवेश

उपायुक्त ने कहा कि ढाबा संचालक एक रजिस्टर लगाएं, जिसमें प्रत्येक ग्राहक की मोबाइल नंबर व आवासीय पते सहित पूर्ण जानकारी दर्ज की जाए। यदि कोई ग्राहक रजिस्टर में जानकारी दर्ज करवाने से इनकार करे तो उसे ढाबे में प्रवेश न दिया जाए।

मास्क लगाने के साथ शारीरिक दूरी का नियम अनिवार्य

उपायुक्त ने राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित गुलशन ढाबा, मन्नत हवेली व अन्य ढाबों की पड़ताल की। उपायुक्त पूनिया ने कहा कि रेस्तरांओं-ढाबों के कर्मचारियों और ग्राहकों के लिए मास्क पहनने के साथ शारीरिक दूरी के नियम की अनुपालना अनिवार्य है। सैनिटाइजर का प्रयोग समय-समय पर किया जाना चाहिए। मास्क को निर्धारित नियमानुसार ही नष्ट किया जाए। ऐसे ही यदि मास्क खुले में अथवा कूड़े में फेंके गए तो संबंधित ढाबों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

उपायुक्त ने एसडीएम और सीएमओ को निर्देश दिए कि वे मास्क इत्यादि को नष्ट किए जाने की जांच करें। साथ ही उपायुक्त ने सभी रेस्तरांओं-ढाबा संचालकों को निर्देश दिए कि वे उनके यहां आने वाले श्रमिकों की अनिवार्य रूप से पहले कोरोना जांच करवाएं।

 

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *