Connect with us

पानीपत

दूसरों को शारीरिक दूरी की नसीहत, सिविल अस्पताल में फजीहत

Published

on

Advertisement

दूसरों को शारीरिक दूरी की नसीहत, सिविल अस्पताल में फजीहत

दूसरों को नसीहत खुद मियां फजीहत की कहावत स्वास्थ्य विभाग पर सटीक बैठती है। सिविल अस्पताल में मरीजों-तीमारदारों की भीड़, मास्क ठीक से नहीं लगाना व शारीरिक दूरी का पालन जैसे नियमों की धज्जियां उड़ रही हैं। उधर, सोमवार को ब्लड ट्रांसफ्यूजन सर्विसेस की असिस्टेंट डायरेक्टर डा. रूही शर्मा ने रक्त बैंक के लिए जगह देखी।

Advertisement

दूसरों को शारीरिक दूरी की नसीहत, सिविल अस्पताल में फजीहत

दिन सोमवार, समय दोपहर लगभग 12 बजे। ओपीडी ब्लाक के मुहाने पर मरीजों तीमारदारों के हाथों को सैनिटाइज कराने, थर्मल सेंसर से स्क्रीनिग के इंतजाम नहीं थे। किसी मरीज ने मास्क नहीं पहना तो उसे टोकने-रोकने वाला कोई नहीं दिखा। ओपीडी स्लिप बनवाने के लिए पहले की तरह कतार लगी थी। मरीज एक-दूसरे से सटकर खड़े हुए दिखे। इससे खराब हालात हड्डी रोग, सर्जरी ओपीडी और जन औषधि केंद्र वाली गैलरी में दिखे।चूक किसकी? इस पर विभागीय अधिकारियों को मंथन करना जरूरी है। गनीमत रही कि एक्स-रे और अल्ट्रासाउंड सुविधा रनिग में थी। मास्क नहीं लगाने पर चालान करने वाली टीम नदारद दिखी।

Advertisement

सभी डाक्टर आन ड्यूटी दिखे। डिस्पेंसरी से भी मरीजों को ओपीडी स्लिप पर लिखी सभी मेडिसिन मिल रही थी। सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा ने कहा कि व्यवस्था और बेहतर हो, इस विषय पर दिशा-निर्देश दिए जाएंगे। ब्लड बैंक की उम्मीदें बढ़ी : ब्लड ट्रांसफ्यूजन सर्विसेस, हरियाणा की असिस्टेंट डायरेक्टर डा. रूही शर्मा सिविल सर्जन कार्यालय पहुंची और ब्लड बैंक के विषय में चर्चा की। इसके बाद सिविल अस्पताल की ड्राइंग में शामिल ब्लड बैंक की जगह(अब पीपीपी मोड पर डायलिसिस सेंटर) और उसके सामने बैंक के लिए तैयार हो रहे फैब्रिकेशन के इंफ्रास्ट्रक्चर को देखा। अस्पताल प्रशासन को आश्वासन दिया कि ब्लड बैंक को लेकर सरकार गंभीर है, मशीनरी जल्द मिलनी शुरू हो जाएगी। उन्होंने आइसीटीसी (इंटीग्रेटेड काउंसिलिग एंड टेस्टिग सेंटर) का निरीक्षण भी किया। जागरण सीख :

प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र, हड्डी रोग के दो विशेषज्ञों सहित सर्जन की ओपीडी एक-दूसरे से सटे हुए हैं। गैलरी की लंबाई-चौड़ाई भीड़ की तुलना में बहुत कम है। ओपीडी या दवा केंद्र को दूसरे स्थान पर स्थानांतरित कर भीड़ को संतुलित कर सकते हैं। यह प्रयोग मेडिसिन ओपीडी व बाल रोग ओपीडी की गैलरी में भी किया जा सकता है।

Advertisement

 

 

Source: Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *