Connect with us

पानीपत

बंदरों को पकड़कर जिस कमरे में रखा, उसकी हालत किसी भी जीव के लिए नर्क

Published

on

Advertisement

बंदरों को पकड़कर जिस कमरे में रखा, उसकी हालत किसी भी जीव के लिए नर्क

 

शहर से बंदर पकड़वाकर शहरवासियाें काे राहत तो दिला रहे, लेकिन जाे बंदर पकड़े जा रहे हैं, उनके रख-रखाव की कोई सुविधा नहीं है। बदबूदार कमरे में बंदरों को बंद कर रखा जा रहा, जहां पर पंखे तक की व्यवस्था नहीं है। पशु विभाग के डॉक्टरों का कहना है कि इससे बंदरों की मौत भी हो सकती है। अच्छा माहौल देने की जिम्मेदारी नगर निगम की है।

Advertisement

बंदरों को पुरानी काेर्ट के एक कमरे में रखा है। निगम ने ठेकेदार को यहीं कमरा मुहैया कराया है। इस कमरे में न ताे पंखे हैं, न ही हवा के आने-जाने के लिए रोशनदान या खिड़की। यही नहीं कमरे में पुराने मैट व कपड़ाें की गठरियां भी पड़ी हैं। इनकी बदबू के कारण यहां सांस लेने में भी दिक्कत है।

पानीपत.नगर निगम की ओर से पकड़वाए गए बंदर।फोटो |भास्कर - Dainik Bhaskar

Advertisement

इस बारे में पशुपालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. संजय अंतिल कहते हैं कि जीव-जंतुओं काे भी इंसान की तरह ही साफ हवा व पानी की जरूरत हाेती है। अगर बंदर या काेई अन्य जीव खुले वातावरण से पकड़कर किसी कमरे या जगह पर रखे जाएं ताे वहां अच्छी व्यवस्था हाेनी चाहिए। बंदर ताे वैसे भी बहुत सफाई में रहने वाला जीव है।

सफाई कराने के लिए पहले ही दिन बाेला था

Advertisement

बंदर पकड़ने वाली टीम के सदस्याें ने बताया कि उन्हाेंने पहले ही दिन सफाई की मांग की थी। जिस कमरे में थाेड़ी बहुत सफाई है, उसमें काेई कुंडी नहीं है। अगर बिना कुंडी वाले कमरे में रखे जाएं ताे काेई भी बंदराें के पास जा सकता है। हमारे 2 आदमी कमरे के आसपास रहते हैं। ये दिन में कई बार दरवाजा खाेलकर भी रखते हैं। कमरे में सफाई व पंखा लग जाए ताे अच्छा रहेगा।

कलेसर में बंदर छाेड़ने के दाैरान बनाई वीडियोग्राफी

ठेकेदार रहीश खान ने बताया कि शनिवार काे कलेसर के जंगलों में 66 बंदर छाेड़े हैं। सभी बंदराें काे छाेड़ने के दाैरान वीडियोग्राफी भी की है। साथ ही कलेसर में तैनात वन विभाग अधिकारी से भी लिखित पत्र लिया गया है।

आज सेक्टर-6 से पकड़े जाएंगे बंदर : साेमवार काे सेक्टर-6, प्रीत विहार काॅलाेनी व इसके आसपास के एरिया से बंदर पकड़े जाएंगे। टीम में शामिल कर्मचारियाें ने बताया कि जितने भी बंदर पकड़े जा रहे हैं, वे लाेगाें की शिकायताें के अाधार पर ही पकड़े जा रहे हैं। रविवार काे सेक्टर-13/17 से 17 बंदर पकड़े गए। अब तक शहर से 96 बंदर पकड़े जा चुके हैं।

साेमवार काे करवा देंगे सफाई : सीएसआई

मेरे पास सफाई कराने की मांग आ चुकी है। साेमवार काे कर्मचारियाें काे भेजकर कमरे की सफाई करवा देंगे। बंदराें का रख-रखाव कैसे किया जा रहा है, इस पर भी नियमित निगरानी रखी जाएगी।
-सुधीर, कार्यकारी सीएसआई, नगर निगम पानीपत

 

 

 

 

 

Source : Bhaskar

 

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *