Connect with us

विशेष

दुकान के बाहर था ताला, तोड़कर देखा तो 20 जनों के साथ चल रहा था धंधा

Published

on

Advertisement

दुकान के बाहर था ताला, तोड़कर देखा तो 20 जनों के साथ चल रहा था धंधा.

 

 

Advertisement

सीकर/श्रीमाधोपुर. राजस्थान के सीकर जिले में जन अनुशासन पखवाड़े में गुरुवार को भी आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बाजार बंद है। इससेे आज भी बाजार में आम दिनों के मुकाबले भीड़ काफी छंटी हुई है। हालांकि गली- कूंचों व कॉम्पलेक्स के अंदर कुछ व्यापारियों ने चोरी- छिपे दुकानें खोली। लोग बिना मास्क व बेवजह घूमते भी दिखे। जिनके खिलाफ सख्त हुए प्रशासन की जुर्माने की वसूली जारी है। इस बीच जिले के श्रीमाधोपुर कस्बे में प्रशासन ने एक कपड़े की दुकान को सीज किया है। जिसके बाहर ताला लगा हुआ था। लेकिन, जब उसे तोड़ा गया तो अंदर 20 जने कोविड नियमों की धज्जियां उड़ाते दिखे। तहसीलदार महिपाल सिंह ने बताया कि विराट रेडिमेड नाम की दुकान में बाहर ताला लगाकर अंदर कोविड नियमों के खिलाफ व्यापार किया ला रहा था। इस पर दुकान को तीन दिन के लिए सीज किया गया है। थानाधिकारी दातार सिंह की अगुआई में पुलिस जाब्ते के साथ रींगस बाजार के पास हुई इस कार्रवाई से पूरे कस्बे में हड़कंप मच गया।

 

Advertisement

पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च
इससे पहले कोविड गाइडलाइन की पालना के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए श्रीमाधोपुर में पुलिस का फलैग मार्च भी निकाला गया। थानाधिकारी दातार सिंह व एसआई कैलाश चन्द्र के नेतृत्व में यह मार्च कस्बे के मुख्य बाजारों में निकाला गया। इस दौरान मास्क नहीं पहनने वाले लोगों के चालान भी काटे गए।

वापस ली कपड़ों की दुकान की छूट
इधर, शादियों के सीजन को देखते हुए बुक हुए कपड़े बेचने के लिए व्यापारियों को छूट दिए जाने का फैसला भी जिला प्रशासन ने गुरुवार सुबह वापस ले लिया गया। इससे बुधवार को जगी व्यापारियों की उम्मीद फिर टूट गई। वे प्रतिष्ठान नहीं खोल पाए। गौरतलब है कि कपड़ा व्यापारियों की मांग पर जिला प्रशासन ने प्रतिष्ठान खोलकर शादियों में बुक समान को ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए व्यापारियों को गुरुवार दोपहर का समय दिया था। लेकिन, कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सुबह ही यह फैसला वापस ले लिया गया।

Advertisement

 

Source : Patrika

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *