Connect with us

पानीपत

शौचालयों से ताला हटेगा, मेयर ने लिया संज्ञान, पुरानी कंपनी का चल रहा विवाद

Published

on

Advertisement

शौचालयों से ताला हटेगा, मेयर ने लिया संज्ञान, पुरानी कंपनी का चल रहा विवाद

मेयर अवनीत कौर ने सार्वजनिक शौचालयों पर लटके तालों को खुलवाने के लिए नगर निगम के कमिश्नर एडीसी डा.मनोज से बात की। साथ ही निगम अफसरों से कहा कि जल्द ताले खुलवाकर सूचित करें। आम लोगों की समस्या को दूर करें। लाखों रुपये खर्च करके शौचालय बनाए गए हैं। क्या केवल देखने के लिए ही बने हैं। खुले में शौच से मुक्त का सर्टिफिकेट यूं नहीं मिला है। शहर के सार्वजनिक शौचालयों को बंद हुए महीनों हो चुके हैं। पार्षद बार-बार लिखित में शिकायत करते हैं लेकिन सुनवाई नहीं होती। दैनिक जागरण ने एक दिन पहले इस समस्या को प्रमुखता से प्रकाशित किया। पार्षदों ने ही कहा कि बार-बार कहकर थक चुके हैं। अब अगर सार्वजनिक शौचालयों पर लगे ताले को नहीं खोला गया तो भविष्य में यहां पर कब्जे भी हो सकते हैं। क्या मालूम, शराब का ठेका ही खुल जाए। मैंने जागरण पढ़ा है, जल्द कराएंगे समाधान

Advertisement
शौचालयों से ताला हटेगा, मेयर ने लिया संज्ञान, पुरानी कंपनी का चल रहा विवाद

मेयर अवनीत कौर ने दैनिक जागरण से बातचीत में कहा कि उन्होंने सुबह ही दैनिक जागरण पढ़ा। सार्वजनिक शौचालय बंद रहने से समस्या बढ़ रही है। नगर निगम के अफसरों पर भी सवाल उठ रहे हैं। उन्होंने सुबह ही कमिश्नर डा.मनोज से बात की। जल्द ही शौचालय खुल जाएंगे। पिछली कंपनी की वजह से दिक्कत बढ़ी, समाधान होगा

Lock on public toilets, ODF plus sabotage - Haryana Panipat Politics News

Advertisement

नगर निगम के चीफ इंजीनियर महीपाल सिंह ने दैनिक जागरण को बताया कि पिछली कंपनी के पास टेंडर था। तब कंपनी ने कुछ कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया। इस वजह से कर्मचारियों ने ताला लगा दिया। अब नया टेंडर दिया गया है। कर्मचारी ताला नहीं खोलने दे रहे। एक या दो दिन में ही बात करेंगे। कंपनी से कहेंगे कि ताला खुलवाएं। अगर ऐसा नहीं किया तो कार्रवाई भी की जा सकती है। 800 रुपये प्रति सीट दिया टेंडर

नगर निगम ने अब नई कंपनी को 800 रुपये प्रति सीट, प्रति माह का टेंडर दिया है। शौचालय का ताला खुलने की देर है। चीफ इंजीनियर का कहना है कि 273 सीट हैं। सभी शौचालयों को खुलवाया जाएगा।

Advertisement

 

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *