Connect with us

City

इन दो देशों का पासपोर्ट सबसे पावरफुल, पाकिस्तान बिल्कुल फिसड्डी

Published

on

Advertisement

World’s most powerful passport: इन दो देशों का पासपोर्ट सबसे पावरफुल, पाकिस्तान बिल्कुल फिसड्डी, जानें भारत की भी रैंकिंग

World most powerful passport & India passport ranking: हेनले पासपोर्ट इंडेक्स में लगातार तीसरे साल जापान ने टॉप पोजीशन हासिल की है. हेनले पासपोर्ट इंडेक्स दुनिया के सबसे ट्रैवल-फ्रेंडली पासपोर्ट्स की लिस्ट हर साल जारी करता है. इस लिस्ट में भारत के कई पड़ोसी देशों का निराशाजनक प्रदर्शन रहा है. वहीं भारत भी छह स्थान फिसला है. जापान और सिंगापुर इस साल की सूची में सबसे ऊपर हैं. जापान और सिंगापुर के पासपोर्ट धारकों को 192 देशों में वीजा-मुक्त यात्रा करने की अनुमति है. वहीं, इस लिस्ट में दक्षिण कोरिया और जर्मनी दूसरे स्थान पर आए हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर, क्रेडिट: getty images

Advertisement

पिछले साल भारत की इस लिस्ट में रैंक 84 थी. हालांकि इस साल भारत छह स्थान फिसला है और उसे इस लिस्ट में 90वीं रैंक प्राप्त हुई है. भारत के नागरिक 58 देशों में वीजा-फ्री यात्रा कर सकते हैं. भारत, तजाकिस्तान और बुर्किना फासो को इस लिस्ट में 90वीं रैंक मिली है. इस लिस्ट में भारत के पड़ोसी देशों मसलन श्रीलंका, बांग्लादेश, पाकिस्तान और नेपाल को दुनिया के सबसे कमजोर पासपोर्ट्स की लिस्ट में शामिल किया गया है. इस लिस्ट में पाकिस्तान सिर्फ सीरिया, इराक और अफगानिस्तान जैसे देशों से बेहतर प्रदर्शन कर पाया है.

बता दें कि हेनले पासपोर्ट इंडेक्स ऐसे समय में आया है जब दुनिया भर में कई देश कोरोना काल से जूझने के बाद अपने अंतराष्ट्रीय पर्यटकों के लिए यात्रा नियमों में ढिलाई बरत रहे हैं. इस लिस्ट का पैमाना वीजा फ्री यात्रा को लेकर बनाया गया है. मसलन किसी देश का नागरिक दुनिया के कितने देशों में वीजा-फ्री यात्रा कर सकता है. इसी आधार पर ये लिस्ट तैयार की जाती है. ये रैंकिंग इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (आईएटीए) द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के विश्लेषण पर आधारित है.

Advertisement

गौरतलब है कि इस फर्म की क्यूफोर ग्लोबल मोबिलिटी रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना महामारी के चलते ग्लोबल स्तर पर मूवमेंट का अंतर बहुत ही ज्यादा बढ़ चुका है और ये लगातार बढ़ रहा है. ग्लोबल साउथ के कई देशों ने अपनी अर्थव्यवस्थाओं को पुनर्जीवित करने के लिए अपने बॉर्डर पर ढील दी है हालांकि ग्लोबल नॉर्थ के देशों ने इस तरह की पहल पर बहुत उत्साह नहीं दिखाया है और कोरोना के चलते यात्राओं को लेकर कड़ा रुख अपनाया है. हेनले पासपोर्ट इंडेक्स में काफी नीचे रैंकिंग हासिल करने वाले देशों के लोग फुल वैक्सीनेशन कराने के बावजूद कई विकसित देशों में एंट्री के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

दुनिया के दस सबसे पावरफुल पासपोर्ट
1. जापान, सिंगापुर (स्कोर: 192)
2. जर्मनी, दक्षिण कोरिया (स्कोर: 190)
3. फिनलैंड, इटली, लक्जमबर्ग, स्पेन (स्कोर: 189)
4. ऑस्ट्रिया, डेनमार्क (स्कोर: 188)
5. फ्रांस, आयरलैंड, नीदरलैंड्स, पुर्तगाल, स्वीडन (स्कोर: 187)
6. बेल्जियम, न्यूजीलैंड, स्विट्जरलैंड  (स्कोर: 186)
7. चेक रिपब्लिक, ग्रीस, माल्टा, नॉर्वे, यूके, अमेरिका (स्कोर: 185)
8. ऑस्ट्रेलिया, कनाडा (स्कोर: 184)
9. हंगरी (स्कोर: 183)
10. लिथुएनिया, पोलैंड, स्लोवाकिया (स्कोर: 182)

Advertisement

दुनिया के दस सबसे कमजोर पासपोर्ट
1. ईरान, लेबनान, श्रीलंका, सूडान (स्कोर: 41)
2.बांग्लादेश, कोसोवो, लीबिया (स्कोर: 40)
3. उत्तर कोरिया (स्कोर: 39)
4. नेपाल, फिलीस्तीन (स्कोर: 37)
5. सोमालिया (स्कोर: 34)
6. यमन (स्कोर: 33)
7. पाकिस्तान (स्कोर: 31)
8. सीरिया (स्कोर: 29)
9. इराक (स्कोर: 28)
10. अफगानिस्तान (स्कोर: 26)

 

 

 

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *