Connect with us

पानीपत

बंद पड़ी स्ट्रीट लाइट के लिए निगम को कोसा तो एसई बोले- हम सेक्टरों की जिम्मेदारी नहीं ले सकते, उद्यमियों ने कहा- लिखकर दो

Published

on

Advertisement

बंद पड़ी स्ट्रीट लाइट के लिए निगम को कोसा तो एसई बोले- हम सेक्टरों की जिम्मेदारी नहीं ले सकते, उद्यमियों ने कहा- लिखकर दो

शहर के 4 औद्योगिक सेक्टरों (सेक्टर-29 पार्ट-1 व 2 तथा सेक्टर-29 पार्ट-1 व 2) में टूटी पड़ी सड़कें, ओवरफ्लो सीवर व बंद पड़ी स्ट्रीट लाइट की समस्या का समाधान ढूंढने के लिए सोमवार को होटल डेज में उद्यमियों की विभिन्न विभागों के अफसरों के साथ मीटिंग हुई।

Advertisement

औद्योगिक सेक्टरों में 3 साल से बंद स्ट्रीट लाइटों के लिए उद्यमियों ने नगर निगम को जिम्मेदार ठहराया तो बवाल हो गया। नगर निगम के एसई रमेश शर्मा ने कह दिया कि- हम(नगर निगम) औद्योगिक सेक्टरों की जिम्मेदारी नहीं संभाल सकते। उद्यमियों ने एसई से कहा कि वह यह बात लिखित में दें। एसई ने लिखकर देने का दावा किया। हंगामे के बाद मीटिंग अधूरी रह गई। निगम कमिश्नर व एडीसी डॉ. मनोज कुमार यादव के कहने पर जिला उद्योग केंद्र (डीआईसी) की सहायक निदेशक क्षितिज कपूर ने निगम, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) और एसएचएसआईआईडीसी अफसरों के साथ चारों औद्योगिक सेक्टरों के उद्यमियों की मीटिंग बुलाई थी। सहायक निदेशक ने एसई से कहा कि वह लिखकर दे दें तो हम सरकार को भेज देंगे कि नगर निगम जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं है। फिर सरकार तय करेगी कि किसे काम करना है।

Advertisement

चारों सेक्टरों के उद्यमियों ने रखी समस्याएं
हरियाणा चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एचसीसीआई) के चेयरमैन विनोद खंडेलवाल, सेक्टर-25 पार्ट-1 एसोसिएशन के प्रधान एचएस धम्मू, सेक्टर-29 पार्ट-1 एसोसिएशन के प्रधान श्रीभगवान अग्रवाल, सेक्टर-29 पार्ट-2 से डायर्स एसोसिएशन के प्रधान भीम सिंह राणा, एक्सपोर्टर ललित गोयल, विनीत शर्मा, मुकेश रेवड़ी सहित अन्य उद्यमियों ने समस्याएं रखीं।

मीटिंग के बीच ऊंची आवाज में बात करते रहे निगम के एसई
क्षितिज कपूर सेक्टर वाइज समस्याएं पूछ रहीं थी। सेक्टर-25 पार्ट-1 व 2 गुजर गया। इस बीच निगम एसई का ऊंची आवाज में बात करना जारी रहा। फिर सेक्टर-29 पार्ट-1 जब बात पहुंची तो प्रधान श्रीभगवान अग्रवाल ने कहा कि उनके यहां जो काम हुए हैं, उसकी क्वालिटी की जांच भी होनी चाहिए। साथ ही क्या-क्या काम के वर्क ऑर्डर दिए थे, उसकी कॉपी चाहिए। एसई ने कहा कि निगम के पास ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं है। इस पर चैंबर के चेयरमैन विनोद खंडेलवाल ने एसई को टोका भी कि इस तरह से ऊंची आवाज बात करना ठीक नहीं। फिर, सेक्टर-29 पार्ट-2 पर भीम राणा ने सड़कों का मामला उठाया। वहां भी यहीं सवाल उठा कि जब 17.50 करोड़ सड़क के लिए खर्च हो गए तो सड़कें अधूरी क्यों रह गई। यहां भी वर्क ऑर्डर की कॉपी मांगी गई। फिर, स्ट्रीट लाइट का मुद्दा उठा तो उद्यमी ने कह दिया कि निगम वाले लाइट ठीक नहीं करते। इस पर एसई ने कह दिया कि वह जिम्मेदारी नहीं ले सकते। यहां मामला बिगड़ गया।

Advertisement

अब आगे क्या? : डीआईसी की सहायक निदेशक क्षितिज कपूर ने कहा कि आज हुई मीटिंग के मिनट्स तैयार करके आगे भेजेंगे। इसके बाद जो भी दिशा-निर्देश मिलेगा, उसके मुताबिक काम होगा। इस बीच उद्यमी भी मैप में निशान लगाकर दे देंगे।

उद्योग विभाग के 29.50 करोड़ से कराए हैं डिवेलपमेंट वर्क
उद्योग विभाग ने सड़क बनाने के लिए सेक्टर-29 पार्ट-2 के लिए 17.50 करोड़ और सेक्टर-29 पार्ट-1 के लिए 12 करोड़ रुपए दिए। सेक्टर-29 पार्ट-2 में पांच-छह टुकड़े नहीं बने। इसी तरह से सेक्टर-29 पार्ट-1 में भी नाले अधूरे पड़े हैं। लेकिन निगम ने अपनी ओर से एजेंसी को पेमेंट करके उद्योग विभाग को लेटर जारी करवाकर पेमेंट निकला ली। उद्यमियों को इसमें बड़ा भ्रष्टाचार नजर आ रहा है। इसलिए निगम से उस वर्क ऑर्डर की डिटेल मांग रहे हैं, जो एजेंसी को दिया गया था।

हंगामा के बाद अधूरी रह गई मीटिंग, उद्यमी बोले- बदतमीज है नगर निगम का एसई, शिकायत करेंगे : हंगामे के बाद मीटिंग अधूरी रह गई। विनोद खंडेलवाल, भीम सिंह राणा, ललित गोयल, श्रीभगवान अग्रवाल सहित अन्य उद्यमियों ने एसई के व्यवहार को गलत बताया। कहा कि निगम का एसई बदतमीज है। इसकी वे लोग डीसी सहित सरकार लेवल पर शिकायत करेंगे।

जानिए मीटिंग से क्या-क्या समाधान निकले

  • सड़क : डीआईसी की सहायक निदेशक क्षितिज कपूर ने कहा कि चारों सेक्टरों के उद्यमियों को मैप दे दिया गया है। वह मैप में निशान लगाकर बताएंगे कि कहां पर सड़क बनाने की जरूरत है। यह मैप एचएसआईआईडीसी को भेज देंगे। जो एस्टीमेट बनाकर देगा।
  • स्ट्रीट लाइट : निगम के एसई ने जिम्मेदारी लेने से इनकार कर दिया। इस पर निगम लिखकर देता है या नहीं इस पर निर्भर करता है कि आगे क्या होगा।

 

 

 

Source : Bhaskar

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *