Connect with us

विशेष

जिस महिला IAS की गाड़ी पर हुआ था पथराव, उनके कामों को जानकर आप भी करेंगे तारीफ

Published

on

Advertisement

अक्सर देखा गया है कि देश भर में ऐसे बहुत से मामले सामने आते हैं जिसको जानने के बाद अक्सर काफी आश्चर्य होता है। एक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के सहजनवां क्षेत्र का है, जहां पर 6 मई 2020 की रात्रि को एक आश्चर्यचकित कर देने वाला मामला सामने आया था। दरअसल, सहजनवां इलाके में बने क्वारंटीन सेंटर में दुर्व्यवस्था का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हुआ था। इस वायरल वीडियो की जांच करने के लिए ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अनुज मलिक टीम के साथ क्वारंटीन सेंटर पहुंची थीं, परंतु जब वहां पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट और पुलिस की गाड़ी पहुंची तो वहां के ग्रामीण लोगों और क्वारंटीन लोगों ने पथराव शुरू कर दिया था। इस मामले में एक युवक को हिरासत में लिया गया। लेकिन अनुज मलिक ने अपनी बुद्धिमानी का इस्तेमाल करके इस मामले को वहीं पर खत्म करने में सफल रही थीं।

Advertisement

गरीबों तक खाद्य सामग्री पहुंचाने में जुटीं

कोरोना महामारी की वजह से लॉकडाउन के दौरान एसडीएम सहजनवां अनुज मलिक ने गरीब लोगों की सहायता की। उन्होंने स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ मिलकर तहसील क्षेत्र के हर निर्धन व्यक्तिक तक खाने के पैकेट पहुंचाएं। इन्होंने हर जरूरतमंद व्यक्ति के पास खाने-पीने की चीजें पहुंचाई थीं, इतना ही नहीं बल्कि इन्होंने अपनी समझदारी और सतर्कता के साथ तहसील क्षेत्र से बाहर से आए सभी व्यक्तियों को समय पर क्वारंटीन भी करवाया। यह उनकी नियमित रिपोर्ट की जानकारी भी समय-समय पर लेती रहती थीं।

Advertisement

कोटे की दुकानों का निरीक्षण किया

आईएस अनुज मलिक सुबह-शाम हाईवे पर पेट्रोलिंग किया करती थीं, इतना ही नहीं बल्कि रेलवे स्टेशन, प्रमुख चौराहों का निरीक्षण कर यह सुनिश्चित किया करती थीं कि कोई भी निर्धन व्यक्ति भूखा पेट ना रहे। इन्होंने किराना दुकानों का भी लगातार निरीक्षण किया। यह कोटे की दुकानों का निरीक्षण करके यह देखती थी कि राशन बांटने में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी तो नहीं हो रही। आपको बता दें कि अनुज मलिक ने कई राशन वितरकों पर कार्यवाही भी कर चुकी हैं। यह सुनिश्चित करा रही हैं कि जरूरी सामानों का उत्पादन करने वाली फैक्ट्रियां ठीक प्रकार से चल सके। अनुज मलिक लगातार गीडा के उद्यमियों की समस्याओं का लगातार निवारण कर रहीं हैं।

लॉकडाउन के दौरान अन्य राज्यों में फंसे गरीबों के लिए भोजन, दवा का इंतजाम कराया

Advertisement

कोरोना वायरस की वजह से जब देश भर में लॉकडाउन का ऐलान किया गया तो गोरखपुर के बहुत से लोग देश के अलग-अलग हिस्सों में फंसे हुए थे। जब सरकार की पहल पर अन्य राज्यों में फंसे हुए निर्धन लोग गोरखपुर वापस लौटने लगे तो रास्ते में भोजन, दवा आदि का इंतजाम अनुज मलिक ने करवाया था। गरीबों को खाना खिलाने से लेकर दवा सुविधा तक में इनकी बहुत अहम भूमिका रही थी।

अनुज मलिक द्वारा संकट की घड़ी में जिस प्रकार से गरीब जरूरतमंद लोगों की सहायता कर रही हैं, इनकी हर कोई तारीफ कर रहा है। इनके द्वारा किया गया यह काम तारीफ के काबिल है। आपको बता दें कि ज्वाइंट मजिस्ट्रेट और एसडीएम सहजनवां अनुज मलिक और ज्वाइंट मजिस्ट्रेट और एसडीएम सदर गौरव सिंह सोगरवाल पति-पत्नी हैं। वैसे देखा जाए तो अनुज मलिक हमेशा से ही जनता के साथ हर कदम पर खड़ी रहीं।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *