Connect with us

City

नशे की लत पूरी करने को इन जगहों को बना रहे निशाना

Published

on

Advertisement

पानीपत में बेखौफ वारदात, नशे की लत पूरी करने को इन जगहों को बना रहे निशाना

 

 नशे की लत पूरी न होने पर बदमाश बाइक चोरी, आंगनबाड़ी केंद्रों और राजकीय स्कूलों में चोरी की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। पुलिस बदमाशों को पकड़ती है और जेल भिजवा देती है। बदमाश जमानत पर छूटकर आते हैं और फिर से चोरी की वारदातों कर देते हैं। ये बदमाश वारदात करने के कुछ दिनों तक शांत रहते हैं। पुलिस की कार्रवाई ढीली होने पर फिर से वारदात कर देते हैं। जिले में ऐसे कई गिरोह सक्रिय हैं। इन गिरोह के बदमाशों ने जिलावासियों को चैन छीन लिया है।पुलिस तीन गिरोह के पांच बदमाशों को काबू भी कर चुकी है। इन्होंने

Advertisement

पानीपत में बेखौफ वारदात, नशे की लत पूरी करने को इन जगहों को बना रहे निशाना Panipat News

वहीं बदमाश पुलिस के लिए सिरदर्द बन गए हैं। इस बारे में डीएसपी मुख्यालय सतीश कुमार वत्स का कहना है कि कई गिरोह के बदमाश नशे की लत पूरी करने के लिए चोरी की वारदातों कर रहे हैं। ऐसे गिरोह पर नजर रखी जा रही है, ताकि वारदात होने से रोकी जा सके। खासकर उन बदमाशों का रिकार्ड खंगाला जा रहा है जो जेल से जमानत पर छूटकर बाहर आए हैं।

Advertisement

केस: एक : जेल से छूटते ही कर ली 10 बाइक चोरी

बाइक चोर गिरोह का सरगना महबूब जेल गया था. जेल से छुटते ही उसने शहर अलग-अलग थाना क्षेत्रों से 10 बाइक चोरी कर ली। क्राइम इनवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-थ्री) हत्थे चढ़े महबूब ने कुबूल किया कि वह नशा करने का आदी है। उसके पास पैसे नहीं थे। इसलिए बाइक चोरी करने लगा। वह चोरी की बाइकों को दो से पांच हजार रुपये में बेच देता था। वह एक क्षेत्र से एक ही बाइक चोरी करता था, ताकि पुलिस के शिकंजे में न फंस पाए। वह जेल भी जा चुका है। जेल से छूटने पर बाइक चोरी कर लेता है।

Advertisement

केस : दो -दो बदमाशों ने चोरी की 20 वारदात कर डाली

कुरुक्षेत्र के झांसा गांव का सोनू बतरा कालोनी में रहता है। उसकी दोस्ती कच्चा कैंप गुरुनानकपुरा के शैंकी से

हो गई। दोनों नशेड़ी है। जुआ खेलने व नशे के लिए रुपये न मिलने पर दोनों ने गिरोह बनाया और आठ महीने में चोरी की 20 वारदात कर डाली। दोनों बदमाशों को क्राइम इनवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-थ्री) ने गिरफ्तार किया। दोनों ने पुलिस पूछताछ में स्वीकार किया कि दुकान, मकान, मंदिर और बैंक से रुपये निकलवा घर लौटने वाले महिला व पुरुषों के रुपये चोरी कर लिए थे।

केस : तीन -आठ महीने में चोरी की 24 वारदात कर दी

पसीना खुर्द गांव के दीपक उर्फ गुंगा व लखन को जल्द अमीर बनने की हरसत थी। वे नशा भी करते थे ।

दोनों ने मिलकर गिरोह बनाया और आठ महीने में जिले में आंगनबाड़ी केंद्रों, स्कूलों व खेतों से बैट्री चोरी की 24 वारदात कर दी। दो बदमाशों को क्राइम इनवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-वन) ने काबू किया। दोनों चोरीशुदा सामान बेचने की फिराक में थे । दोनों बदमाश दिन में रेकी करते थे और रात को चोरी की वारदात को अंजाम देते थे।

Advertisement