Connect with us

पानीपत

रहने के लिहाज से शानदार हैं देश की ये जगहें, List में देखें- क्या आपके शहर का नाम भी है शामिल

Published

on

Advertisement

रहने के लिहाज से शानदार हैं देश की ये जगहें, List में देखें- क्या आपके शहर का नाम भी है शामिल

 

केंद्रीय आवास और शहरी कार्य मंत्रालय ने ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स (Ease of Living Index) जारी किया है. इस रिपोर्ट में यह बताया गया है कि रहने के लिहाज से देश के कौन से शहर कितने सुरक्षित और सुविधाजनक हैं. इस रिपोर्ट में देश के 111 शहरों की रैंकिंग जारी की है. रिपोर्ट के मुताबिक, इसके मुताबिक, भारत में 10 लाख से अधिक की आबादी वाले शहरों में ईज ऑफ लिविंग के मामले में बेंगलुरु टॉप पर है.

Advertisement

रहने के लिहाज से शानदार हैं देश की ये जगहें, List में देखें- क्या आपके शहर का नाम भी है शामिल

 

Advertisement

बेंगलुरु के अलावा पुणे, अहमदाबाद, चेन्नई, सूरत जैसे शहर भी लिस्ट में टॉप पर हैं. वहीं, बरेली, धनबाद जैसे शहर आखिरी पायदानों वाले शहरों में शामिल हैं. शहरी विकास मंत्रालय की ओर से तैयार ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स 2020 में यह बात कही गई है.

शिमला है टॉप पर, बिहार का यह शहर सबसे आखिरी पायदान पर

10 लाख से कम की आबादी वाले शहरों की बात करें तो इसमें शिमला टॉप पर है और बिहार का मुजफ्फरपुर आखिरी नंबर पर आता है. शिमला के अलावा भुवनेश्वर, सिलवासा जैसे शहरों के नाम भी टॉप में शामिल हैं. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यकाल में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के साथ ही ईज ऑफ लिविंग को भी बेहतर करने पर जोर दिया है. ऐसे में यह रिपोर्ट काफी मायने रखती है. यह रिपोर्ट इस लिहाज से भी महत्वपूर्ण है कि सरकार शहरी विकास पर खर्च का निर्धारण भी इसी रिपोर्ट के आधार पर करती है.

Advertisement

हेल्थ, एजुकेशन, सेफ्टी समेत इन 15 मानकों पर मूल्यांकन

पहली बार वर्ष 2018 में ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स जारी किया गया था. गवर्नेंस, आइडेंटिटी एंड कल्चर, एजुकेशन, हेल्थ, सेफ्टी, पब्लिक ओपन स्पेस, इकॉनमी, अफोर्डेबल हाउसिंग, लैंड यूज प्लानिंग, ट्रांसपोर्टेशन और मोबिलिटी जैसे 15 मानकों के आधार पर यह रैंकिंग की जाती है.

शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी ने कहा है कि भारत इस वक्त दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. भारत की आर्थिक ग्रोथ उसके शहरों के विकास से भी दिखती है. भारत में जिस तरह तेजी से शहरीकरण हो रहा है, उससे साफ है कि आने वाले तीस सालों में देश की 50 फीसदी आबादी शहरों में होगी.

स्थान ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स
जनसंख्या 10 लाख से अधिक जनसंख्या 10 लाख से कम
शहर अर्जित अंक शहर अर्जित अंक
1 बेंगलुरु 66.70 शिमला 60.90
2 पुणे 66.27 भुवनेश्वर 59.85
3 अहमदाबाद 64.87 सिल्वासा 58.43
4 चेन्नई 62.61 काकीनाडा 56.84
5 सूरत 61.73 सलेम 56.40
6 नवी मुंबई 61.60 वेल्लोर 56.38
7 कोयंबटूर 59.72 गांधीनगर 56.25
8 वडोदरा 59.24 गुरुग्राम 56.00
9 इंदौर 58.58 दावणगेरे 55.25
10 ग्रेटर मुंबई 58.23 तिरुचिरापल्ली 55.24

केंद्रीय मंत्रालय की ओर से नगरपालिकाओं की रैंकिंग भी जारी की गई है.

 

 

स्थान

नगरपालिका कार्य प्रदर्शन सूचकांक
दस लाख से अधिक जनसंख्या दस लाख से कम जनसंख्या
नगरपालिका अर्जित अंक नगरपालिका अर्जित अंक
1 इंदौर 66.08 नई दिल्ली नगरपालिका परिषद 52.92
2 सूरत 60.82 तिरुपति 51.69
3 भोपाल 59.04 गांधीनगर 51.59
4 पिंपरी चिंचवाड़ 59.00 करनाल 51.39
5 पुणे 58.79 सलेम 49.04
6 अहमदाबाद 57.60 तिरुपूर 48.92
7 रायपुर 54.98 बिलासपुर 47.99
8 ग्रेटर मुंबई 54.36 उदयपुर 47.77
9 विशाखापत्तनम 52.77 झांसी 47.04
10 वडोदरा 52.68 तिरुनेलवेली 47.02

मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि दोनों सूचकांकों के तहत https://eol.smartcities.gov.in पर रैंकिंग ऑनलाइन देखी जा सकती है.

 

 

Source : TV9 Bharat

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *