Connect with us

City

चोर गिरोह गिरफ्तार, सामान खरीदने वाला कबाड़ी भी पकड़ा गया

Published

on

Advertisement

चोर गिरोह गिरफ्तार, सामान खरीदने वाला कबाड़ी भी पकड़ा गया

चार बदमाशों ने गिरोह बनाकर दो महीने में स्कूल, घरों व आंगनबाड़ी केंद्रों में चोरी की 12 वारदात कर दी। शनिवार रात को क्राइम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-वन) ने रिफाइनरी आइओसीएल चौक से वारदात की फिराक में घूम रहे गिरोह के बदमाश शिव कालोनी करनाल के इंद्रवीर व पारस, गंगाराम कालोनी पानीपत के सुभाष और मनीष को गिरफ्तार किया। आरोपितों के कब्जे से आटो रिक्शा, 17400 रुपये, एक एम्पलीफायर, पांच कैमरे, एक स्पीकर व एक माइक बरामद किया। इसके अलावा चोरी का सामान खरीदने के आरोपित कबाड़ी करनाल के मूनक गांव के हंसराज को भी गिरफ्तार किया। सीआइए-वन प्रभारी इंस्पेक्टर राजपाल सिंह ने बताया कि पांचों आरोपितों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया।

चोर गिरोह गिरफ्तार, सामान खरीदने वाला कबाड़ी भी पकड़ा गया

Advertisement

बदमाशों को हथियार और कारतूस बेचने वाला पहुंचा जेल अपराध शाखा पुलिस ने बदमाशों को हथियार सप्लाई करने वाले आरोपित गन्नौर के रसूलपुर के संदीप को रिमांड अवधि पूरा होने के बाद मंगलवार को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है। आरोपित को मतलौडा बस अड्डे से पुलिस ने गिरफ्तार किया था। चुलकाना वासी चेतन पर हमला करने वाले गांव के विशाल व विजय को आरोपित ने पिस्तौल सहित कारतूस बेची थी, जिससे विशाल ने फायरिग की थी। इंस्पेक्टर राजपाल ने बताया गत जुलाई में एक हजार रुपये प्रतिमाह रंगदारी नहीं देने पर गांव के विशाल और विजय ने शाम के समय कार में पेट्रोल भरवाने दोस्त के साथ जा रहे चेतन पर फायर किया था।

Advertisement

हादसे में वह बाल बाल बच गया। वारदात के बाद आरोपित मौके से भाग गए। पुलिस ने दस दिन बाद आरोपितों को समालखा रेलवे स्टेशन के पास से हथियार सहित गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, लेकिन उसको हथियार सप्लाई करने वाला पकड़ में नहीं आ रहा था। पुलिस से बचने के लिए बार-बार ठिकाना बदल रहा था।

Advertisement

Advertisement