Connect with us

पानीपत

पानीपत के इस चिकित्‍सक का है अनोखा अंदाज, गीत गाकर करते हैं मरीजों का इलाज, गीत लिखती हैं पत्‍नी

Published

on

Advertisement

पानीपत के इस चिकित्‍सक का है अनोखा अंदाज, गीत गाकर करते हैं मरीजों का इलाज, गीत लिखती हैं पत्‍नी

 

हरियाणा। अनूठे प्रयोग करने में माहिर हैं यहां के लोग। करनाल में बांसुरी की धुन सुनाकर गायों की दूध देने की क्षमता बढ़ाई जा रही है तो पानीपत के समालखा में एक ऐसे डाक्‍टर हैं, जो मरीजों को अपने गीत सुनाकर उनका इलाज करते हैं। वह ‘ठा दे धुम्‍मां…थोड़ी भांग पिला दे भोले मेरा जोटा लाग रहया…’जैसे गीत गुनगुनाते हुए इलाज करते हैं तो मरीजों पर इसका सकारात्‍मक असर पड़ता है। आप यूट्यूब पर भी उनके गीत सुन सकते हैं। यहां वह डाक्‍टर ‘यो त्‍यागी’ (Yo Tyagi) के नाम से जाने जाते हैं। एक-एक गीत को 80 हजार से अधिक लोग सुन चुके हैं। पढि़ए समालखा के डा. यादवेंद्र त्‍यागी की ये दिलचस्‍प कहानी।

Advertisement

डॉ. यादवेंद्र त्यागी चिकित्सा सेवा से साथ संगीत की दुनिया में भी अपनी छाप छोड़ रहे हैं। उन्होंने सोलह साल बाद दोबारा संगीत की दुनिया में कदम रखा है। दो सालों से संगीत, हरियाणवी और भक्ति गीत गा रहे हैं। उनका अपना यूट्यूब चैनल है। त्‍यागी एंटरटेन कंपनी के नाम से यूटयूब चैनल है। चिकित्सा के साथ उनके भक्ति और हरियाण्वी गीतों के वीडियो यूट्यूब पर धूम मचा रहे हैं। उन्हें पसंद करने वालों की संख्या लाखों में पहुंच गई है। संगीत में रुचि के कारण यह सब संभव हो सका है।

Tyagi

Advertisement

रोहतक में रहे बेस्‍ट सिंगर

डॉ. त्यागी बीएएमएस हैं। प्राकृतिक चिकित्सा में डिप्लोमा भी। उनकी शुरू से ही संगीत में रुचि थी। रोहतक के गौड़ ब्राह्मण आयुर्वेदिक कॉलेज में छात्र जीवन के दौरान वह 1997-98 में कॉलेज के बेस्‍ट सिंगर रहे हैं। कई यूथ फेस्टिवल में कॉलेज की ओर से भाग लिए। शिक्षा के साथ संगीत उनका प्रिय विषय था।

Advertisement

DR Yadvendra Tyagi

चिकित्सा सेवा में आने के बाद छूट गया था अभ्यास

त्यागी 2002 में बीएएमएस करने के बाद संगीत की दुनिया से अलग हो गए। उन्हें प्रैक्टिस से फुरसत नहीं मिलती थी। 16 साल बाद 2018 में उनके अंदर की संगीत प्रतिभा ने उन्हें चैन से रहने नहीं दिया। हरियाणवी संगीत ठा दे धुम्मां … से अपनी शुरुआत की। फिर थोड़ी सी भांग….साईं बाबा, होली, राधा-कृष्ण, गौ माता, राष्ट्र भक्ति के गाने गाने लगे। उनके सभी गाने समाजिक सरोकार, राष्ट्र और भगवान की भक्ति से जुड़े हैं। चिकित्सा के साथ संगीत और भक्ति में कदम रखने से लोग इसे अचंभा मान रहे हैं। उनके श्याम और लकीसर बाबा के भजन वीडियो को स्थानीय काफी महत्व दे रहे हैं।

 

पत्नी प्रीति के साथ मिलकर लिखते लिरिक्‍स

त्यागी ने बताया कि उनके गुरु जेसी मिश्रा हैं, जो डीपीएस में शिक्षक हैं। माता-पिता का आशीर्वाद और छोटे भाई हरेंद्र त्यागी के सहयोग से उन्होंने यह लोकप्रियता हासिल की है। पत्नी प्रीति के साथ मिलकर स्वयं लेरिक्स लिखते हैं। गाने का अभ्यास करते हैं। कल्याण क्लीनिक के नाम से उनका यूट्यूब चैनल है। संगीत की दुनिया में लोग उसे यो त्यागी के नाम से जानते हैं।

DR Yadvendra Tyagi

समाज सेवा में भी आगे

डॉ. त्यागी के मातापुली रोड स्थित क्लीनिक में हर माह के तीसरे बुधवार को सांस मरीजों की जांच स्पीरोमिट्री मशीन से की जाती है। हर माह 22 तारीख को बोन मिनरल डेनसिटी जांच के लिए निशुल्क कैंप लगाया जाता है। शुगर व नशों की जांच के लिए शिविर लगाने की वे कवायद कर रहे हैं। वह कहते हैं, कई बार मरीज निराश होते हैं। तब उन्‍हें गीत सुना देते हैं। कई बार तो मरीज कह देते हैं, डाक्‍टर साहब, दवाई बाद में देना, पहले एक गाना सुना दो।

 

 

 

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *