Connect with us

पानीपत

जीना इसी का नाम है… स्‍वजनों की पीड़ा देख कोरोना संक्रमितों को खाना पहुंचाने लगीं श्‍वेता

Published

on

Advertisement

जीना इसी का नाम है… स्‍वजनों की पीड़ा देख कोरोना संक्रमितों को खाना पहुंचाने लगीं श्‍वेता

 

 

Advertisement
घर में स्वजन कोरोना संक्रमित हुए तो उन्हें सबसे पहले खाने की ही दिक्कत आई। कमरे में अलग तो रह रहे थे लेकिन खाना पहुंचा, फिर डिस्पोजल प्लेटों को अलग रखना। खाना क्या होना चाहिए, इसको लेकर भी रोज सलाह ली जाती। जब स्वजन ठीक होने लगे तो मन में विचार आया कि जिस तरह से उन्होंने मुश्किलें देखी हैं, वैसे हालात तो और जगह भी होते होंगे।  माडल टाउन निवासी श्वेता विज ने अब माडल टाउन, विराट नगर,  फ्रेंड्स कालोनी में कोरोना संक्रमितों तक खाना पहुंचाने की ठानी है। ये वही एरिया हैं, जिन्हें हाल में कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। यहां पर कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे थे।
पानीपत के मॉडल टाउन की श्‍वेता विज की सकारात्‍मक पहल।
महिलाएं भी पॉजिटिव, वहां ज्यादा जरूरत
श्वेता विज ने बताया कि महिलाएं भी कोरोना पॉजिटिव आ रही हैं। महिला अब रसोई में जा नहीं सकतीं। पुरुषों को खाना बनाने में दिक्कत होती है। माडल टाउन में ही एक घर से फोन आया था। उन्होंने बताया कि उन्हें खाना बनाना नहीं आता। बाहर से मंगाने में डर लग रहा है। तब उन्होंने उस घर में खाना भिजवया।
पति ने साथ दिया
श्वेता के पति आशीष विज भी पत्नी का साथ दे रहे हैं। उनके साथ खाना बनवाने में मदद करते हैं। इसके बाद अपने सहयोगी के साथ घरों में पहुंचाते हैं। डिस्पोजल थाली में खाना पैक होता है। घर के बाहर दहलीज पर खाना रखकर आते हैं।

विधायक प्रमोद विज के परिवार से हैं श्वेता विज

विधायक प्रमोद विज के भाई स्व.देवेंद्र के बेटे हैं आशीष विज। उनकी पत्नी श्वेता विज ने कोरोना संक्रमितों के घर तक खाना पहुंचाने का अभियान शुरू किया है। स्व.देवेंद्र को डिंडी भी कहते थे। उन्हीं के नाम से डिंडी फाउंडेशन बनाया है। इसी फाउंडेशन के नाम से खाना पहुंचा रहे हैं। श्वेता ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट भी लोग भेज रहे हैं। वैसे वह विश्वास करके सभी के यहां खाना पहुंचा रही हैं। रोजाना पचास के करीब थाली हो रही हैं।

Advertisement

 

 

Advertisement

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *