Connect with us

City

पानीपत में दम घुटने से तीन की मौत, सीवरेज टैंक की सफाई के वक्त हादसा

Published

on

Advertisement

पानीपत में दम घुटने से तीन की मौत: सीवरेज टैंक की सफाई के वक्त हादसा, मजदूर-सिविल इंजीनियर व राहगीर की गई जान

 

पानीपत के सेक्टर-23 स्थित टीडीआई सिटी में एसटीपी (सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट) के अंदर सीवरेज टैंक की जहरीली गैस से एक मजदूर, एक सिविल इंजीनियर और एक राहगीर की मौत हो गई। हादसा शुक्रवार की दोपहर करीब ढाई बजे का है। जब एक मजदूर सीवरेज मेनहोल का ढक्कन खोलकर सफाई करने नीचे उतरा लेकिन बाहर नहीं आने पर इंजीनियर को नीचे उतरना पड़ा, वह भी बाहर नहीं आया। इसके बाद एक राहगीर उन्हें बचाने नीचे उतरा लेकिन वह भी बाहर नहीं आया।
आनन-फानन जेसीबी की मदद से सीवरेज को तोड़ा गया और तीनों को बाहर निकाला गया। स्थानीय लोगों ने उन्हें सामान्य अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। तीन में से राहगीर की पहचान नहीं हो सकी है। टीडीआई सिटी में शुक्रवार को एसटीपी के अंदर सीवरेज टैंक की सफाई करने की तैयारी चल रही थी। इसी बीच यूपी के जिला अमरोहा निवासी जाहिद (18) को सीवरेज टैंक में उतरकर सफाई के लिए कहा गया।
मृतक जाहिद और सुमित की फाइल फोटो।

Advertisement

सीवरेज टैंक का ढक्कन न खुलने पर पास में काम कर रहे सिविल इंजीनियर को बुलाया गया। सभी की मदद से ढक्कन खोला गया और जाहिद करीब 20 फीट गहरे सीवरेज टैंक में उतार गया। 10 मिनट बाद अंदर से कोई हलचल न होने पर आवाज लगाई गईं, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। जिसके बाद गांव बड़ौली निवासी सिविल इंजीनियर सुमित मिटान (26) नीचे उतरे लेकिन वह भी नीचे ही रह गए। फिर दोनों को देखने के लिए एक राहगीर नीचे गया लेकिन वह भी वापस नहीं आया।

इसी बीच तीनों के अंदर फंस जाने से हड़कंप मच गया। हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर एएसपी पूजा वशिष्ठ, चांदनीबाग थाना प्रभारी मंजीत सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारी-कर्मचारी पहुंचे। वहीं मौके पर एफएसएल की टीम भी पहुंची, जिन्होंने हादसे की जांच की और प्रत्यक्षदर्शियों के बयान दर्ज कराए।

Advertisement

मैनेजमेंट पर आरोप, नहीं पहनाई सुरक्षा किट, न ही दी थी रस्सी
परिजनों ने मैनेजमेंट पर आरोप लगाया है कि सुपरवाइजर ने मजदूर को न ही कोई सुरक्षा किट पहनाई थी, न ही कोई ऑक्सीजन मास्क पहनाया गया था। इसके अलावा नीचे उतारने से पहले उसके शरीर पर कोई रस्सी भी नहीं बांधी गई। जिस वजह से अंदर फंसे मजदूर से कोई संपर्क नहीं हो सका और उसकी मौत हो गई।

परिजनों के बयान पर की जाएगी कार्रवाई 
सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी, शवों को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया गया है, परिजनों के बयान के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।– पूजा वशिष्ठ, एएसपी, पानीपत।
Advertisement

Advertisement