Connect with us

City

पानीपत की सड़कों पर व्यापारियों का कब्जा

Published

on

Advertisement

मुख्य बाजारों में दुकान के आगे 4-4 फीट तक रेहड़ी वालों को बेच दी सड़क, जाम से जूझ रहे लोग, आंखें मूंदे बैठा पुलिस-प्रशासन

हरियाणा में पानीपत के बाजारों की सड़कों पर दुकानदारों कब्जा है। दुकान के सामने सामान रखकर अतिक्रमण करने के साथ सड़कों को भी रेहड़ी वालों को बेचा जा रहा है। दुकानदार रेहड़ी वालों से रोजाना 500 रुपए तक वसूल रहे हैं। जबकि बाजार आने वाले लोगों को जाम के कारण परेशानी का सामना उठाना पड़ रहा है। पुलिस-प्रशासन सब कुछ जानने के बाद भी कार्रवाई करने के बजाय आंखें मूंदे बैठा हुआ है। सबसे बुरा हाल पानीपत के मुख्य इंसार बाजार का है।

Advertisement

पानीपत पुलिस प्रशासन ने शहर और बाजारों को जाम से निजात देने के लिए पहल की थी। रेलवे रोड बाजार को वन-वे करने के साथ इंसार बाजार में भारी वाहनों के आवागमन पर रोक लगाई। दो दिन तक बाजारों में पुलिस तैनात रही तो व्यवस्था बनी रही, लेकिन फिर बाजारों की सड़कों पर दुकानदारों का कब्जा हो चुका है।

Advertisement

500-500 रुपए में बेची जा रही बाजारों की सड़कें
पानीपत के मुख्य बाजारों में व्यापारी अपने सामान के साथ रोजाना सड़कें भी बेच रहे हैं। दुकानों के बाहर अलग-अलग तरक के सामान बेचने वाले रेहड़ी वालों को खड़ा किया जाता है। इन रेहड़ी वालों से दुकानदार रोजाना 500-500 रुपए तक वसूल रहे हैं। जिसके कारण बाजारों की सड़कों पर पैदल चलना भी मुश्किल हो चुका है।

Advertisement

20 गज की दुकान के बाहर 4 फीट तक अतिक्रमण
पानीपत के मुख्य बाजारों में दुकान की कीमत करोड़ों रुपए है। ऐसे में 20 वर्ग गज की दुकान लेने वाला व्यापारी सामान को अपनी दुकान तक सीमित नहीं रखता। दुकान के आगे 4-4 फीट तक अतिक्रमण किया जा रहा है। कुछ दिन अभियान चलाने के बाद प्रशासन भी चुप बैठ गया। जिसका खामियाजा बाजार में जाने वाले लोगों को उठाना पड़ रहा है।

Advertisement