Connect with us

City

पानीपत में 4 बच्चों के पिता की दर्दनाक मौत, ई-रिक्शा का चार्जर हटाते वक्त लगा करंट

Published

on

Advertisement

ई-रिक्शा का चार्जर हटाते वक्त लगा करंट, 30 साल से परिवार के साथ पानीपत में रह रहा था करनाल का तेजपाल

पानीपत में ई-रिक्शा को चार्जिंग से हटाते समय करंट लगने से एक शख्स की मौत हो गई। करंट लगने से बेसुध हो जाने पर परिवारवाले उसे अस्पताल ले गए जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। मरने वाले का नाम तेजपाल है और 30 साल से पानीपत की वधावा राम कॉलोनी में रह रहा था। उसके परिवार में पत्नी के अलावा 4 बच्चे हैं।

तेजपाल का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar

Advertisement

मूल रूप से करनाल के रामनगर का रहने वाला 42 साल का तेजपाल पिछले 30 बरसों से अपने परिवार के साथ पानीपत की वधावा राम कॉलोनी में रह रहा था। तेजपाल अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए ई-रिक्शा चलाता था। वह ज्यादातर बस अड्‌डे से वधावा राम कॉलोनी की सवारियां ही उठाता था।

पानीपत सिविल अस्पताल में विलाप करते तेजपाल के परिजन।

चीखने का मौका भी नहीं मिला
तेजपाल के पड़ोसी ने बताया कि रोजाना की तरह उसने मंगलवार रात को घर पहुंचने के बाद अपनी ई-रिक्शा को चार्जिंग पर लगा दिया। बुधवार सुबह जब वह चार्जर हटाने गया तो हादसा हो गया। पड़ोसियों के अनुसार, करंट का झटका इतना तेज था कि तेजपाल को चीखने तक का मौका नहीं मिला।करंट लगने के बाद तेजपाल काफी देर तक वहीं पड़ा रहा।

Advertisement

चार बच्चों और पत्नी का बुरा हाल
तेजपाल के परिवार में पत्नी के अलावा 18 साल की बेटी, 16 साल की बेटी तन्नू, 15 साल का बेटा सत्यम और 12 साल का बेटा शिवम है। पूरे परिवार की जिम्मेदारी तेजपाल पर थी। परिवार के मुखिया की असमय मौत से सबका रो-रोकर बुरा हाल है।

Advertisement

Advertisement