Connect with us

पानीपत

एक साल पहले हुई हत्या की कोशिश के दो आरोपी पकड़े नहीं गए, दोबारा लंबू गैंग ने रैकी कर शराब ठेकेदार पर की फायरिंग

Published

on

Advertisement

एक साल पहले हुई हत्या की कोशिश के दो आरोपी पकड़े नहीं गए, दोबारा लंबू गैंग ने रैकी कर शराब ठेकेदार पर की फायरिंग

 

नए एसपी शशांक कुमार सावन की जिले में जॉनिंग के पहले दिन ही लंबू गैंग ने शहर में खून खराबा कर डाला। 20 लाख की रंगदारी नहीं देने की रंजिश में गैंग के 4 बदमाशों ने शनिवार रात करीब 8:45 बजे खलीला प्रहलादपुर के शराब ठेकेदार अजीत के नूर वाला अड्डे स्थित शराब ठेके पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। गोली लगने से 47 वर्षीय अजीत, उसका ड्राइवर 23 वर्षीय सागर और शराब खरीदने आए 20 वर्षीय धर्मेंद्र घायल हो गए।

Advertisement

अजीत की तरफ से हुई क्राॅस फायरिंग में एक बदमाश मौके पर ढेर हो गया, जबकि 3 बदमाश भाग गए। अजीत पर दिसंबर 2019 में भी जानलेवा हमला हुआ था। इसमें नामजद बदमाश लाखू बुआना के राकू और किवाना के विकास को अब तक नहीं पकड़ पाई है। अब बदमाशों ने दोबारा फिर अजीत की जान लेने की कोशिश की। अजीत के छोटे भाई सुरेंद्र ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी व गैंग पर लगाम लगाने के लिए वह कई बार पुलिस अफसरों से मिल चुके हैं, लेकिन पुलिस से अब भरोसा ही उठ गया। पुलिस ने कुछ नहीं किया। फरार बदमाशों को नहीं पकड़ पाए और अब पुलिस सुरक्षा होने के बावजूद हमला हो गया।

Advertisement

बड़ी बात यह है कि उसकी सुरक्षा में दो पुलिसकर्मी हवलदार दिलबाग और मुकेश लगे हैं। इस बार हुई गोलीबारी के समय दिलबाग मौके पर था। अजीत के छोटे भाई सुरेंद्र का आरोप है कि जैसे ही गोलीबारी हुई तो दिलबाग अपनी इनसास राइफल लेकर भाग गया। वहीं, दिलबाग ने कहा कि वह भागा नहीं था। गोली लगने के बाद वह अजीत को ठेके के अंदर ले गया और उन्हें बचाया है। अजीत व अमन ने क्रास फायरिंग की तो एक बदमाश मारा गया। उसकी उम्र करीब 25 साल है।

बदमाशों ने सीने और पीठ में मारी गोली

Advertisement

सुरेंद्र ने बताया कि बड़े भाई अजीत ने नूर वाला अड्‌डे, किशनपुरा, राजनगर, गोहाना मोड़ 3-4 और बिचपड़ी चौक पर शराब ठेका ले रखा है। शनिवार शाम को वह नूर वाला अड्डे स्थित शराब ठेके पर बैठा था। उसने फोन पर बात की तो बोला कि थोड़ी देर में ही वह घर के लिए निकल रहा है। तब वह ठेके के बाहर बनी बाथरूम में गया। जैसे ही निकलकर बाहर आया तभी पैदल आए 4 बदमाशों ने पिस्टल से फायरिंग की। अजीत के एक गोली सीने में लगी, जब वह बचने के लिए ठेके में भागा तो एक पीठ पर लगी। बचाव में अजीत और जुआ गांव निवासी अमन उर्फ बॉक्सर ने दोनाली व रिवॉल्वर से क्रास फायरिंग की। इसमें एक बदमाश मारा गया। ड्राइवर जुआ गांव निवासी सागर अजीत से थोड़ी दूर था, उसे भी गोली लगी। मौके पर 12 से 13 राउंड फायर हुए।

7-8 कारतूस मिले

सुरेंद्र ने बताया कि भाई शराब ठेकेदार है। लंबू गैंग ने भाई से 20 लाख रुपए सालाना रंगदारी मांगी थी, मना करने पर वे दुश्मन बन गए। अब तक 4 बार गोली चला चुके हैं। दो बार भाई को लगी है। अब बदमाश हाईटेक हथियार लेकर आए। पिस्टल में 18 गोलियों वाली मैग्जीन लगी थी। मौके से दो पिस्टल और 7 से 8 चले हुए कारतूस बरामद हुए हैं।

तीन बदमाश फरार

गोलीबारी में शराब ठेकेदार अजीत समेत 3 लोग घायल हुए हैं। जबकि मारने के लिए आया एक बदमाश मौके पर ढेर हो गया। गोली चलाने के बाद 3 बदमाश अंसल की तरफ पैदल ही भागे हैं। देर रात तक ऑपरेशन जारी था। परिजनों के बयान के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। -कमलजीत, एसएचओ, सेक्टर 13-17 थाना

 

 

Source : Bhaskar

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *