Connect with us

पानीपत

पानीपत में दो बाल श्रमिक कराए मुक्त, कड़ाके की ठंड में नंगे पैर करा रहे थे काम

Published

on

Advertisement

पानीपत में दो बाल श्रमिक कराए मुक्त, कड़ाके की ठंड में नंगे पैर करा रहे थे काम

 

CIA मधुबन ने मंगलवार को पानीपत के खैल बाजार में छापेमारी करके बेकरी से दो बाल श्रमिकों काे मुक्त कराया है। आरोपी मालिक कड़ाके की ठंड में नंगे पैर ही मजदूरी करा रहा था। दोनों बाल श्रमिकों को CWC पानीपत को सौंपा गया है। आरोपी बेकरी मालिक की डेली डायरी रिपोर्ट (DDR) काटी गई है। बुधवार को दोनों बच्चों की काउंसिलिंग के बाद आरोपी के खिलाफ किला थाने में केस दर्ज कराया जाएगा।

Advertisement

CWC पानीपत की चेयरपर्सन पदमा रानी ने बताया कि CIA मधुबन को खैल बाजार स्थित बेकरी पर बाल श्रम की शिकायत मिली थी। जिसपर मंगलवार को ASI विनोद व राजेश के नेतृत्व में टीम ने छापेमारी की। टीम को छह बाल श्रमिकों की सूचना थी, लेकिन मौके पर दो ही बाल श्रमिक मिले। दोनों बिहार के समस्तीपुर जिले के एक गांव के रहने वाले हैं। एक की उम्र 12 व दूसरे की 14 साल है।

Advertisement

बच्चों ने बताया कि उन्हें 6-6 हजार रुपये दिये जाते हैं। यह रकम भी उनके माता-पिता के बैंक अकाउंट में डाली जाती है। सुबह से लेकर शाम तक काम कराया जाता है। CWC चेयरपर्सन पदमा रानी ने बताया कि बुधवार को दोनों बच्चों की काउंसिलिंग की जाएगी। अभी बेकरी मालिक की डेली डायरी रिपोर्ट काटी गई है। काउंसिलिंग के बाद आरोपी मालिक के खिलाफ संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर गिरफ्तार किया जाएगा।

कड़ाके की ठंड में नंगे पैर काम करते मिले
जब टीम बेकरी पर पहुंची तो दोनों बाल श्रमिक काम करते मिले। बच्चों के पास पूरे कपड़े नहीं थे। कड़ाके की सर्दी में जूते तो दूर पैरों में चप्पल तक नहीं थी। बच्चों को पानी में भी काम करना पड़ता था। पूछने पर बताया कि उनसे केवल काम कराया जाता है, पैसे उनके मां-बाप लेते हैं।

Advertisement

 

 

Source : Bhaskar

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *