Connect with us

पानीपत

शराब के नशे में दाढ़ी खींचने पर दो दोस्तों ने 48 घंटे में की गमछे से गला घोंटकर 3 हत्याएं, फुटेज से पकड़े

Published

on

Advertisement

शराब के नशे में दाढ़ी खींचने पर दो दोस्तों ने 48 घंटे में की गमछे से गला घोंटकर 3 हत्याएं, फुटेज से पकड़े

सनौली रोड पर 28 सितंबर की रात हुई दो दोस्तों के मर्डर के मामले में एसआईटी ने दो आरोपियों को गुरुवार सुबह गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने 26 सितंबर की रात को किए गए एक और मर्डर का खुलासा किया। कबूला कि हत्या के बाद शव को गोहाना रोड स्थित गोशाला के पीछे गली में फेंक दिया था। इस शव की शिनाख्त अभी तक नहीं हो सकी है। आरोपियों ने 48 घंटे के अंदर एक-एक कर तीन लोगों को गमछे से गला घोंटकर मारा।

Advertisement

हत्या कारण कुछ और नहीं नशे में दाढ़ी खींचना था। आरोपी सनौली रोड स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की शाखा के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए थे। फुटेज की मदद से ही पुलिस ने आरोपियों को दबोच लिया। डीएसपी मुख्यालय सतीश वत्स ने बताया कि 28 सितंबर की रात को राजकॉलोनी के रहने वाले हरिनारायण और दलबीर नगर के रहने वाले राजेंद्र की हत्या कर दी गई थी। मंगलवार को सनौली रोड स्थित कांशीगिरी मंदिर के पास और बैंक ऑफ बड़ौदा के पास गली में दोनों शव मिले थे। परिजनों ने किसी पर शक नहीं जताया था।

Advertisement

एसआईटी सीआईए वन और थ्री की टीम ने बैंक ऑफ बड़ौदा के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर दो आरोपियों को संजय चौक के पास से गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने अपने नाम आशीष निवासी कलाहवड़, थाना सांपला (रोहतक) और सोनू निवासी सेवा समिति रोड, समालखा बताए। पूछताछ में आरोपियों ने इन दोनों हत्याओं के साथ ही गोहाना रोड स्थित गोशाला के पीछे गली में हुए मर्डर केस को भी कबूल लिया।

आरोपी आशीष पिता से झगड़ा करके आया था पानीपत

Advertisement

आशीष ने बताया कि दो साल पहले शादी हुई थी। वह नशे का आदि था। इसलिए पत्नी उसे छोड़कर चली गई। परिजनों ने उसे दिल्ली स्थित नशा मुक्ति केंद्र में भेज दिया। 28 अगस्त को वह भाग निकला। घर पहुंचा तो पिता से झगड़ा हो गया। एक सितंबर को वह पानीपत आ गया। वह जाटल रोड पर काम करने लगा।

आरोपी सोनू ने धारण कर लिया था साधू का वेष

आरोपी सोनू समालखा का है। वह भी नशेड़ी है। उससे मां-बाप परेशान थे। वह 5 साल पहले पानीपत आ गया। संजय चौक के पास पुल के नीचे रहने लगा। साधू का वेष धारण कर लिया। दाढ़ी बढ़ा ली। दिन में भीख मांगता तो रात को नशा करता था। आशीष भी उसके पास फुटपाथ पर रहने लगा।

मर्डर वाली रात राजेंद्र, हरिनारायण आरोपियों के साथ पी रहे थे शराब

राजेंद्र और हरिनारायण भी नशे के आदि थे। रात को संजय चौक पर पुल के नीचे नशा करने आते थे। वहां उनकी मुलाकात आशीष और सोनू से हुई। 28 सितंबर की रात को चारों सनौली रोड स्थित शिव चौक के पास शराब के ठेके के बराबर में शराब पी रहे थे। नशे में राजेंद्र ने सोनू की दाढ़ी खींच दी थी। वह राजेंद्र के साथ मारपीट करने लगा। हरिनारायण बचाने आया तो उसे भी पीटने लगे। वह वहां से भाग गया। सोनू और आशीष ने राजेंद्र की गमछे से गला घोंटकर हत्या कर दी। शव को बैंक ऑफ बड़ौदा के बराबर गली में फेंककर भाग गए। एक घंटे बाद हरिनारायण उन्हें कांशीगिरी मंदिर के पास मिल गया। पास की ही गली में ले जाकर गमछे से गला घोंट दिया। हाथापाई में हरिनारायण का सिर दीवार से टकराया था। इसलिए चोट आ गई थी।

तीसरी हत्या भी सनक में की

आरोपियों ने कबूला कि 26 सितंबर की रात को गोहाना रोड स्थित गोशाला के पीछे गली में शराब पी रहे थे। तभी वहां एक युवक आ गया। वह भी शराब पीने लगा। उसने सोनू की दाढ़ी खींच दी। सोनू ने उसे पकड़ लिया। गमछे से गला घोंट हत्या के बाद शव को वहीं फेंककर फरार हो गए।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *