Connect with us

करनाल

करनाल में छात्राओं से छेड़छाड़ पर भड़के ग्रामीण, स्कूल में जमकर किया हंगामा

Published

on

Advertisement

करनाल में छात्राओं से छेड़छाड़ पर भड़के ग्रामीण, स्कूल में जमकर किया हंगामा

 

करनाल के इंद्री के एक गांव स्थित सीनियर सेकेंडरी स्कूल में आते-जाते वक्त छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करने का मामला शनिवार को तूल पकड़ गया। कई गांवों के सरपंच व काफी ग्रामीण स्कूल में पहुंच गए और हंगामा किया। लोगों ने वारदात के बारे में स्कूल प्रिंसिपल को जानकारी दी। इस दौरान छात्राओं की सुरक्षा को लेकर स्कूल में एक पंचायत भी की गई। पुलिस ने मामला दर्ज करने के साथ ही जांच शुरू कर दी है।

Advertisement

पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पंचायत में स्वजनों का कहना है कि शरारती तत्वों ने उनकी बेटियों के साथ छेड़छाड़ की। आरोप है कि जब उनको रोकने का प्रयास किया तो मारपीट करते हुए आरोपितों ने उन पर पिस्तौल तानकर धमकी दी। जातिसूचक शब्द भी कहे। वहीं पुलिस ने स्वजनों की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए  अलग-अलग गांव के दो युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। ग्रामीणों ने मामले में ठोस कार्रवाई की मांग की और कहा कि पुलिस प्रशासन सुबह व स्कूल की छुट्टी के समय इस क्षेत्र में पुलिस गश्त बढाए ताकि शरारती तत्वों पर लगाम लग सके।
स्कूल में पहुंचे लोगों ने बताया कि सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पढने जा रही छात्राओं के साथ दो युवकों द्वारा आते-जाते हुए छेड़छाड़ करने का मामला काफी दिन से चल रहा था। जब शरारती तत्वों का विरोध किया तो मारपीट करते हुए आरोपितों ने पिस्तौल दिखाकर छात्राओं के साथ गलत हरकतें करने की कोशिश की। छात्रा के पिता व छात्राओं के साथ मारपीट की गई। वहीं स्कूल के प्रिंसिपल ने मामले को लेकर मीडिया से कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। जबकि ग्रामीणों का कहना है कि सरकार लड़कियों की पढ़ाई पर जोर दे रही है लेकिन इस तरह की वारदातों से उन्हें पढाना-लिखाना मुश्किल हो रहा है।
पुलिस गश्त का दिया आश्वासन
गांव के सरपंच प्रतिनिधि का कहना है कि स्कूल में आते जाते वक्त कुछ शरारती तत्व यहां छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करते थे। स्कूल प्रिंसिपल के साथ भी इस बाबत बातचीत हुई। आसपास के कई गांवों के लोग स्कूल में मौजूद थे और अपने अपने गांवों के इस तरह के बच्चों को समझाने को लेकर भी चर्चा की गई। गांवों में मुनादी भी करवाई जाएगी कि शरारती तत्वों का कोई सहयोग नहीं करेगा। यदि कोई शरारती तत्व ऐसी घटना करता है तो इसकी तुरंत सूचना दें।  वहीं एसएचओ इंद्री सतपाल ङ्क्षसह ने आश्वासन दिया है कि पुलिस गश्त बढाएंगे। ग्रामीणों ने गांव में मुनादी कर ऐसे आरेापित युवकों के खिलाफ कार्रवाई कराए जाने पर भी चर्चा की।
Advertisement

Advertisement
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *