Connect with us

पानीपत

गिरफ्तारी से बचने को मंदिरों में छिप रहा सहगल, आखिरी लोकेशन वृंदावन की मिली

Published

on

गिरफ्तारी से बचने को मंदिरों में छिप रहा सहगल, आखिरी लोकेशन वृंदावन की मिली

 

 

 

सरकारी जमीन हड़पने के मामले में फंसे पार्षद पति विजय सहगल की तलाश में सिटी थाना पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। आरोपित बार-बार अपना ठिकाना बदल रहा है। वह दिन में मंदिर और रात को होटल में ठहरता है। पुलिस ने एक दिन पहले विजय सहगल के छोटे भाई कपिल और सोनू से लगभग पौने घंटे तक पूछताछ की। उसके स्वजनों और परिचितों से सहयोग मांगा है।

Image may contain: 1 person, beard and closeup

थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर योगेश ने बताया कि न्यायाधीश (एडीजे) प्रवीन कुमार की अदालत में विजय सहगल के वकील इस्लाम अली ने अग्रिम जमानत याचिका लगाई थी। याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दिया। इस बीच, पुलिस लगातार आरोपित को पकड़ने का प्रयास कर रही है। उसकी आखिरी लोकेशन वृंदावन की मिली थी। टीम के दबिश देने से पहले आरोपित वहां से फरार हो गया। हाथरस के दो और आगरा के पांच होटलों में बिताए दिन

केस दर्ज होने के बाद ही विजय सहगल शहर से बाहर है। वह हाथरस के दो और आगरा के पांच बड़े होटलों में ठहर चुका है। दिन निकलते ही धरपकड़ के डर से मंदिरों में आसरा लेता है। दिन ढलते ही विश्वस्त साथियों की मदद से कार में होटल पहुंच जाता है। सीसीटीवी कैमरों की जद में आने से बचने के लिए मास्क के बजाय बड़ा गमछा इस्तेमाल कर रहा है। विजय सहगल का परिवार सोमवार को हाई कोर्ट जाने की तैयारी में है। स्वजनों को उम्मीद है कि जमानत मिल जाएगी।

आरोपित पार्षद पति विजय सहगल और उसके पिता दौलत राम की तलाश में लगातार छापेमारी की जा रही है। टीम को स्वजनों और परिचितों से भी कई अहम जानकारियां मिली हैं। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

इंस्पेक्टर योगेश, थाना शहर प्रभारी

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *