Connect with us

City

पॉश एरिया में भी जलभराव, जीटी राेड जाम, गड्‌ढे में गिरा बाइक सवार

Published

on

Advertisement

पॉश एरिया में भी जलभराव, जीटी राेड जाम, गड्‌ढे में गिरा बाइक सवार

  • उमस से मिली राहत, खस्ताहाल सड़कों से हाेकर गुजरने से वाहन चालकों को हुई परेशानी, 2 डिग्री तक गिरा अधिकतम पारा

फिर से सक्रिय हुए मॉनसून ने मंगलवार काे 50 मिनट के अंदर जिले में करीब 16.2 एमएम बारिश कर दी। इससे तापमान में 3 डिग्री की गिरावट आ गई। उमस से भी राहत मिल गई। माैसम विभाग के अनुसार 5 सितंबर तक बारिश के आसार बन रहे हैं। वरिष्ठ माैसम विशेषज्ञ डाॅ. डीपी दुबे ने बताया कि बंगाल की खाड़ी पर लाे प्रेशर एरिया और साइक्लाेनिक सर्कुलेनशन बन जाने के कारण माॅनसूनी टर्फ रेखा हिमाचल की तलहटियाें से उत्तर की तरफ बढ़ गई। इसलिए 29 अगस्त की शाम से फिर से मॉनसून सक्रिय हाे गया।

29 अगस्त की रात काे करीब 30 मिनट झमाझम बारिश दर्ज की गई। मंगलवार सुबह 11 बजे शुरू हुई बारिश 50 मिनट तक हाेती रही। 2 डिग्री गिरकर अधिकतम तापमान 34.6 डिग्री व न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री रहा।बारिश के कारण जलमग्न हुई शहर की खस्ताहाल सड़काें से लाेगाें काे जान जाेखिम में डालकर सफर करना पड़ा। सबसे खतरनाक हादसा ताे वार्ड-15 की शिव नगर काॅलाेनी में हुआ। शिवनगर में किशनपुरा भवन के सामने वाली मुख्य सड़क के बीचाें बीच एक सीवर का मेन हाेल 10 दिनाें से टूटा हुआ है।

Advertisement

आसपास के लाेगाें ने पैदल राहगीराें, बाइक सवाराें व अन्य वाहन चालकाें काे बचाने के लिए कुछ पत्थर उठाकर मेन हाेल के ऊपर रखे हैं। मंगलवार काे हुई बारिश में लाेगाें ने सड़क पानी पानी भरने से यह टूटा हुआ ढक्कन बाइक सवाराें काे नजर नहीं आ और इसमें बाइक का पहिया फंसने से एक बाइक सवार गिर गया। एक पैदल बुजुर्ग भी इसी गड्ढ़े में पांव जाने के कारण फिसलकर गिरकर चाेटिल हाे गया। कमिश्नर आरके सिंह ने बताया कि बारिश के थमने के बाद ज्यादा लंबे समय तक पानी नहीं रुक पाया है। पानी की निकासी जल्दी हाे जाने से भी बड़ी राहत मिली है। यह नगर निगम के ही प्रयासाें से संभव हाे पाया है।

इन 5 प्रमुख जगहाें से समझे शहर की परेशानी… वाहनों के पहिए थमे, गंदे पानी में सड़क पर उतरना पड़ा-

Advertisement

सेक्टर-11/12 : बाइकाें का आधा हिस्सा पानी में डूब गया
एंजल माॅल चाैक से जीटी राेड और साईं बाबा चाैक की ओर जाने वाली सड़क पर करीब 3-3 फुट तक पानी भर गया। कई जगहाें पर ताे बाइकाें का आधे से ज्यादा हिस्सा पानी में डूब गया। इससे बाइकें व स्कूटी पानी में ही बंद हाे गई। एक निजी स्कूल के बच्चाें काे लेकर जा रहा ऑटाे भी बीच पानी में ही बंद हाे गया। इसे स्कूली विद्यार्थियों ने करीब 200 मीटर तक धक्का देकर कम पानी वाले हिस्से तक पहुंचाया।

खादी आश्रम रोड : वाहनों की रफ्तार पड़ी धीमी
यहां पर 2-2 फुट से भी ज्यादा पानी भर गया। इससे गाड़ियां पानी में रुक-रुक कर बहुत ही धीमी गति से चली। बाइक व स्कूटी चालकाें काे ताे यहां से गुजरने में बहुत ही ज्यादा परेशानी झेलनी पड़ा। जिन शहरवासियों काे पता था कि पास की काॅलाेनियाें से गुजरने का रास्ता है, उन दाेपहिया वाहन चालकाें ने रास्ता बदल लिया। बाकि बाहर के लाेग पानी में फंस गए।

Advertisement

एसडी काॅलेज राेड : दुकानों में घुसा पानी
एसडी काॅलेज राेड पर दुकानाें में भी पानी घुस गया। वहीं अमर भवन चाैक पर सनाैली राेड की ओर जाने वाली सड़क का पानी दुकानाें में भी घुस गया। दुकानदार सन्नी ने बताया कि उनकी बाइक रिपेयर और दीपक ने बताया कि उनकी कपड़ा सिलाई की दुकान है। पानी घुसने से सामान भी खराब हाे गया।

संजय चाैक : बसों का इंतजार भी पानी में खड़े हाेकर किया
संजय चाैक पर शाम तक जाम लगता रहा। बसाें का इंतजार भी लाेगाें काे पानी में खड़े हाेकर ही करना पड़ा।

भीम गाैड़ा मंदिर चाैक : दाेपहर तक पानी साफ नहीं हाे पाया
भीम गाैड़ा मंदिर चाैक पर ज्यादा पानी भर गया। सनाैली राेड, साई बाबा चाैक, गंगापुरी व सब्जी मंडी राेड पर दाेपहर तक पानी साफ नहीं हाे पाया।

Advertisement