Connect with us

चंडीगढ़

चंडीगढ़ में जल्द लिया जाएगा फ़ैसला, दो दिन यानी शनिवार-रविवार को लॉकडाउन लगाने पर चर्चा जारी

Published

on

चंडीगढ़ में जल्द लिया जाएगा फ़ैसला, दो दिन यानी शनिवार-रविवार को लॉकडाउन लगाने पर चर्चा जारी

 

बुधवार को तय होगा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पंजाब की तर्ज पर शहर में वीकेंड लॉकडाउन लगाया जाएगा या नहीं। प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने सोमवार को ट्राईसिटी के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

बैठक में बदनौर ने वीकेंड लॉकडाउन पर डॉक्टरों से सलाह ली और बुधवार को होने वाली बैठक तक का फैसला टाल दिया। शहर में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण प्रशासक पिछले कई दिनों से सप्ताहांत में लॉकडाउन की चेतावनी दे रहे हैं।

बस का इतंजार करते लोग

उनका कहना है कि शहर में कई लोग न तो मास्क पहन रहे हैं और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। इस मामले में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यदि स्थिति वैसिक: बनी रहती है तो सप्ताहांत में लॉकडाउन लगाना होगा। इस पर उन्होंने प्रशासन के कई अधिकारियों से बात भी की है।

जानकारी के अनुसार बता दें कि प्रशासन के कुछ अधिकारी इसके पक्ष में नहीं हैं। प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पंजाब में सप्ताहांत पर लॉकडाउन लगाया गया है लेकिन इससे कोरोना वायरस के किसी भी नए मामले में कमी नहीं आई है। उन्होंने कहा कि लोगों को अगर वायरस के संक्रमण को रोकना चाहते हैं तो उन्हें ज्यादा सावधान रहना होगा।

कोरोना हर क्षेत्र से आ रहे मामले, इसलिए अब मैपिंग होगी
पिछले कुछ दिनों से शहर में अलग-अलग सेक्टरों से कोरोना वायरस के मामले आ रहे हैं। ऐसी स्थिति में प्रशासन की मुश्किलें भी बढ़ गई हैं। पहले कोरोना वायरस के मामले केवल कुछ ही जगहों से आते थे, लेकिन अब लगभग हर क्षेत्र से मामले आ रहे हैं। इसलिए अब प्रशासन संक्रमण का पता लगाने के लिए मामलों की मैपिंग करेगा।

स्वास्थ्य विभाग के निदेशक डॉ जी दीवान ने बताया कि उन्होंने मनीमाजरा में इसकी शुरुआत की है। बैठक में प्रशासक ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए कि उनके द्वारा किए जा रहे घर-घर सर्वे में लोगों के आधार कार्ड नंबर भी नोट किए जाएं, ताकि प्रशासन के पास सारी जानकारी हो।

प्रशासक ने मोहाली और पंचकूला को अपनी सीमाएं सख्त करने के निर्देश दिए
समीक्षा बैठक में मोहाली के डीसी ने कहा कि उनके पास इस समय 115 एक्टिव केस हैं, जबकि पंचकूला के डीसी ने कहा कि वर्तमान में कोरोना वायरस के 32 सक्रिय मामले हैं। इस पर प्रशासन बदनौर ने आदेश दिया कि दोनों जिलों की सीमा को कड़ा किया जाए ताकि संक्रमण न फैले।

इसके अलावा पूरे शहर में यात्रा करने वाले वेंडरों और पुलिस कर्मचारियों को भी विशेष शिविर लगाकर जांच की जानी चाहिए। डीसी मनदीप सिंह बरार ने बैठक में बताया कि एसडीएम, एसएचओ और आरडब्ल्यूए की संयुक्त टीमें शहर में बिना लक्षण वाले मरीजों की पहचान करने में जुटी हैं।

रात में बेवजह चलने के लिए 31 एफआईआर, ३९ गिरफ्तार और 24 कारें जब्त
बैठक में चंडीगढ़ के डीजीपी संजय बेनीवाल ने बताया कि पुलिस कर्मी पीसीआर की ओर से एक खास ऑडियो घोषणा कर रहे हैं, जिसमें कोरोना को रोकने के उपाय बताए जा रहे हैं। इसके अलावा उसने बेवजह भटक रहे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए रात के कर्फ्यू के दौरान 39 लोगों को गिरफ्तार किया है। कुल 31 एफआईआर दर्ज की गई हैं, जबकि 24 कारों को जब्त किया गया है। इसके अलावा मास्क न पहनने पर ढाई हजार लोगों के चालान काटे गए हैं।