Connect with us

City

जब सड़कें सूनी रहती हैं तब लागू होते हैं कोरोना रोकने के नियम

Published

on

जब सड़कें सूनी रहती हैं तब लागू होते हैं कोरोना रोकने के नियम

8 साल के बच्चे सहित कोरोना के तीन पॉजिटिव मिले, 9 हुए एक्टिव केस

ओमिक्रॉन के खतरे के बीच शनिवार रात 11 बजे से नाइट कर्फ्यू लागू हो गया। घर से निकलना मना है। मानो- कोरोना का सबसे अधिक खतरा रात 11 बजे से शुरू होकर सुबह 5 बजे तक ही रहता है। इसके उलट दिन में हर जगह अनियंत्रित भीड़। मास्क लगाना तो लोग भूल ही गए, क्योंकि कहीं कोई सख्ती नहीं। जुलाई 2020 के बाद से निगम ने एक भी चालान नहीं काटा है। उस समय तक 1230 चालान काटे गए थे।

सोशल डिस्टेंसिंग का तो न कहीं पालन होता है न ही कोई कराने वाला नजर आ रहा है। सवाल इसलिए बड़ा है कि क्या नाइट कर्फ्यू लगा देने से ही कोरोना काबू आ जाएंगे। इसे गंभीरता से लेने की जरूरत है, क्योंकि अभी तो शुरुआत है। हमने वाे दिन भी देखे हैं, जब एक दिन में 22 मौतें और 580 पॉजिटिव आए थे। शनिवार को कोरोना पॉजिटिव के तीन नए केस आए हैं।

गोवा से लौटे जगन्नाथ विहार के 35 साल के युवक के संपर्क में आए परिवार के तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसमें 8 साल का बेटा, 55 साल के चाचा और 66 साल के पिता शामिल हैं। 65 साल की मां की रिपोर्ट 23 दिसंबर को बेटे के साथ पॉजिटिव आई थी। इस तरह से कोरोना पॉजिटिव के 9 केस जिले में अभी एक्टिव हैं। तीसरे चरण में 15 दिसंबर से कोरोना पॉजिटिव के केस जिले में आने शुरू हुए थे। अब तक 10 पॉजिटिव आ चुके हैं। 23 दिसंबर से लगातार पॉजिटिव केस आ रहे हैं। पिछले तीन दिनों में ही 9 पॉजिटिव आ चुके हैं।

 

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *