Connect with us

पानीपत

पानीपत के NC कॉलेज में मरीज को बिना मास्क के लगा दी ऑक्सीजन, बार-बार हट रहे पाइप को पत्नी घंटों तक पति की नाक के सामने लगाए बैठी रहीं, लेकिन बचा न पाई

Published

on

Advertisement

पानीपत के NC कॉलेज में मरीज को बिना मास्क के लगा दी ऑक्सीजन, बार-बार हट रहे पाइप को पत्नी घंटों तक पति की नाक के सामने लगाए बैठी रहीं, लेकिन बचा न पाई

 

 

Advertisement

पानीपत के इसराना स्थित NC मेडिकल कॉलेज की एक दहला देने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां हॉस्पिटल में भर्ती मरीज को ऑक्सीजन तो दी, लेकिन सांस लेने के लिए उस पर मास्क नहीं लगाया। बिना ऑक्सीजन मास्क के पाइप बार-बार हटता रहा। पति को तड़पते देख पत्नी पाइप को पति की नाक के सामने लगाए बैठी रही, लेकिन ऑक्सीजन ठीक से न मिलने के कारण पति ने दम तोड़ दिया। परिजनों ने स्टाफ की लापरवाही का विरोध किया तो उन्होंने डैड बॉडी न देने की धमकी दे दी। सिविल अस्पताल पहुंची पत्नी MC कॉलेज स्टाफ की लापरवाही बताते-बताते रोने लगी।

NC कॉलेज में पति की नाक के सामने ऑक्सीजन का पाइप पकड़कर बैठी दुर्गेश।
NC कॉलेज में पति की नाक के सामने ऑक्सीजन का पाइप पकड़कर बैठी दुर्गेश।

कोरोना की मार के चलते पानीपत के सरकारी और निजी अस्पतालों में बुरा हाल है। पहले तो मरीजों को बेड नहीं मिल रहे। अब जो मरीज भर्ती हैं, उन्हें सही इलाज नहीं मिल रहा है। संसाधन होते हुए भी सरकारी अस्पताल और मेडिकल कॉलेज का स्टाफ मरीजों की जान बचाने में दिलचस्पी नहीं ले रहा है।

Advertisement

पति की मौत के बाद अस्पताल के बाहर बिलखती पत्नी और परिजन। - Dainik Bhaskar

गन्नौर निवासी दुर्गेश ने बताया कि उनका 42 वर्षीय पति ड्राइवर था। दो दिन पहले सांस लेने में दिक्कत हुई तो उन्होंने स्थानीय डॉक्टरों को दिखाया, लेकिन वह बेड नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने गुरुवार को पति को इसराना स्थित NC मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। वहां बेड और ऑक्सीजन तो मिल गई, लेकिन स्टाफ ने साथ नहीं दिया।

Advertisement

उनके पति को बिना ऑक्सीजन मास्क के ही ऑक्सीजन लगा दी। ऑक्सीजन का पाइप कभी ठोड़ी पर पहुंच जाता तो कभी गले पर। ऑक्सीजन नाक तक न पहुंचने पर पति तड़पने लगते। वह हाथ जोड़कर स्टाफ से मास्क मांगती रहीं, लेकिन किसी ने नहीं सुनी। आखिर में वह खुद ही पाइप को पति की नाक के सामने पकड़कर बैठ गई। ताकि पति की सांसें चलती रहें, लेकिन कुछ देर बाद उन्होंने दम तोड़ दिया।

स्टाफ ने ऑक्सीजन के 6 सिलेंडर कर दिए लीक
दुर्गेश के बेटे राहुल ने बताया कि उस वार्ड में सभी मरीजों के ऑक्सीजन लगी थी। एक स्टाफ आया उसने झटके से सिलेंडर से पाइप खींच दिये। कुछ देर बाद वहां दूसरा स्टाफ पहुंचा तो उसने पूछा कि यह किसने किया। चेक किए तो छह सिलेंडर लीक मिले।

इलाज के बजाय हंसता रहा स्टाफ, विरोध किया तो मिली धमकी
दुर्गेंश ने बताया कि जब उनके पति सांस लेने के लिए तड़प रहे थे तो पास खड़ा स्टाफ इलाज करने के बजाय हंसता रहा। उन्होंने विरोध किया तो स्टाफ ने चुप रहने और डैड बॉडी न देने की धमकी दी। इसके बाद भी उन्हें बिना डैड बॉडी के सिविल अस्पताल भेज दिया।

 

 

Source :  Bhaskar

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *