Connect with us

Uncategorized

नए सॉफ्टवेयर में गलत रिकॉर्ड चढ़ाया, रजिस्ट्रियां नहीं हो रहीं

Published

on

Spread the love

नए सॉफ्टवेयर में गलत रिकॉर्ड चढ़ाया, रजिस्ट्रियां नहीं हो रहीं

खामियों के कारण तहसील का नया सॉफ्टवेयर आम लोगों के लिए सिरदर्द बन चुका है। गलत रिकॉर्ड चढ़ाने से ग्रामीण एरिया को अर्बन में दिखा दिया है। स्टाम्प ड्यूटी में भी बढ़ोतरी के कारण जेब पर मार पड़ रही है। वहीं नगर पालिका द्वारा प्रॉपर्टी आइडी ऑनलाइन न किए जाने के कारण अर्बन एरिया की रजिस्ट्री लॉक है। पहले जहां रोज 20 के आसपास रजिस्ट्री होती थीं, अब खामियों के चलते 10 भी नहीं हो पा रही हैं।

 

यमुना की तलहटी में बसे गांव हथवाला, बुढऩपुर, राक्सेड़ा, सिम्बलगढ़ कंट्रोल एरिया से बाहर है। नए सॉफ्टवेयर में इन गांवों को कंट्रोल एरिया में दर्शाया गया है। यहां के रकबे की रजिस्ट्री के दौरान जिला नगर योजनाकार विभाग से एनओसी लिए बगैर रजिस्ट्री होना संभव नहीं है।

 

वसीका नवीस के अनुसार रजिस्ट्री कराने के लिए आने वाले लोगों को पहले ऑनलाइन आवेदन करना पड़ता है। खंड के गांव मनाना, शहरमालपुर, बिहोली, जौरासी सर्फ खास, गढ़ी छाजू, मछरौली, करहंस, आट्टा, डिकाडला, देहरा, महावटी, पट्टीकल्याणा, हल्दाना, भोड़वाल माजरी, किवाना, चुलकाना को अर्बन एरिया में दर्शाया गया है। ऐसे में रजिस्ट्री कराने वालों पर अधिक स्टाम्प ड्यूटी की मार पड़ रही है। ग्रामीण एरिया में महिला के नाम पर 3 व पुरुष के नाम पर 5 प्रतिशत स्टाम्प ड्यूटी देनी पड़ती है, लेकिन गांवों को भी अर्बन में दिखाने पर महिला के नाम पर 5 और पुरुष के नाम पर 7 प्रतिशत स्टाम्प ड्यूटी देनी पड़ रही है। ग्रामीण एरिया में केवल पावटी, जौरासी खालसा, नारायणा, ढोडपुर, नामुंडा, ढिडार आदि को रखा गया है।

प्रॉपर्टी आइडी ऑनलाइन नहीं

अर्बन एरिया में समालखा व भापरा रकबा है। रजिस्ट्री कराने के लिए प्रॉपर्टी आइडी होना जरूरी है। नगर पालिका की ओर से अभी तक उसे ऑनलाइन नहीं किया गया है। ऐसे में अर्बन एरिया की रजिस्ट्री नहीं हो पा रही है। इसके अलावा उक्त दोनों जगह के खेती वाले रकबे में भी प्रॉपर्टी आइडी मांगी जा रही है। लोगों ने सरकार से सॉफ्टवेयर में डाटा फीडिग के दौरान हुई खामियों को दूर करने की मांग की है।

कब कितनी हुई रजिस्ट्री

तिथि रजिस्ट्री

2 सितंबर 2

3 सितंबर 2

4 सितंबर 6

9 सितंबर 13

10 सितंबर 6

14 सितंबर 14

सब ठीक हो जाएगा

नायब तहसीलदार नरेश कौशल का कहना है कि रजिस्ट्री को लेकर अभी नया सॉफ्टवेयर आया है। रिकॉर्ड संबंधित अपडेट में दिक्कत के चलते परेशानी आ रही है। धीरे-धीरे सबकुछ ठीक हो जाएगा।

Continue Reading
Advertisement