Connect with us

City

पानीपत में युवक की गला घोटकर हत्या, हरदोई से पानीपत आया था मौसी के घर

Published

on

Advertisement

पानीपत में युवक की गला घोटकर हत्या, हरदोई से पानीपत आया था मौसी के घर

पानीपत के खटीक बस्ती में कमरे में बाइक की रेस के तार से गला घोंटकर और सिर में वजनी हथियार से वार कर युवक की हत्या कर दी गई। स्वजनों ने आरोप लगाया है कि मौसी ने खुद या फिर दो या तीन लोगों के साथ मिलकर हत्या की है। युवक घर लौटने की जिद कर रहा था, इसी वजह से हत्या की गई है। मौसी ने स्वजनों को बरगलाया कि युवक कमरे पर आया और जमीन पर गिरकर मर गया।

पानीपत में युवक की हत्‍या कर दी गई।

Advertisement

उत्तर प्रदेश के जिला हरदोई के मतलावां गांव के मुकेश ने पुलिस को शिकायत दी कि तीन भाइयों व एक बहन में प्रमोद उर्फ गोलू (19) सबसे छोटा था। 25 अगस्त को गोलू हरदोई के कसियापुर गांव की सगी मौसी देवकी पत्नी गुड्डू के साथ पानीपत आया था और दोनों खटीक बस्ती में रणवीर प्रजापत के मकान में रहने लगे। पचरंगा बाजार के पास संजय मार्केट में होम डिकोर सेंटर में गोलू परदों की कटाई और मौसी छल्ले डालने का काम करती थी। शिकायत के अनुसार शनिवार को 1:15 बजे मौसी ने उसे काल कर बताया कि गोलू कमरे में आया और जमीन पर गिरकर मर गया। जल्दी पानीपत आ जाओ। वह स्वजनों के साथ मौके पर पहुंचा और पता किया कि गोलू की कमरे पर हत्या की गई है। उसने आरोप लगाया कि मौसी ने खुद या अन्य लोगों के साथ मिलकर गोलू की गला घोंटकर हत्या की है। मौसी ने फोन कर उन्हें झूठी सूचना दी है।

jagran

Advertisement

इस बारे में किशनपुरा चौकी प्रभारी प्रमिंद्र का कहना है कि गोलू की करीब एक बजे हत्या की गई है। गर्दन पर गला घोंटने के निशान हैं। सिर पर भी वार किया गया है। गोलू ने बचाव का भी प्रयास किया होगा, क्योंकि उनकी टी-शर्ट का बटन कूड़े में पड़ा मिला है। वारदात से पहले हाथापाई भी हुई है। डाक्टरों के बोर्ड से सोमवार को शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। गोलू गांव लौटने की जिद कर रहा था, शायद इसी वजह से हत्या की गई होगी। आरोपित देवकी के खिलाफ हत्या और 120बी षड्यंत्र रचने का मामला दर्ज किया गया है। उससे पूछताछ के बात हत्या की असल वजह का पता चलेगा।

भाई का रिश्ता तय करने गए थे माता-पिता

Advertisement

गोलू अविवाहित था और सबसे छोटा था। सबसे बड़ा भाई मुकेश और बहन किरण की शादी हो चुकी है। इनसे से छोटा सूरज, दिलीप है। पिता राजेंद्र प्रसाद गांव में चाय की दुकान चलाते हैं। दिलीप ने बताया कि वीरवार पिता व मां भई सूरज का रिश्ता तय करने बिहार के पटना गए थे। शुक्रवार को ही भाई की हत्या की सूचना मिली तो स्वजन किराये की गाड़ी से पानीपत पहुंच गए। गोलू की हत्या के आरोपित मौसी के पति गूड्डू तीन बेटियों के साथ गांव में रहता है और मजदूरी करता है।

Advertisement